मुख्य समाचार

‘भाजपा का यार है, कवि नहीं गद्दार है’, जानिए इस लाइन पर क्यों शुरु हो गया है ‘दिल्ली में दंगल’

नई दिल्ली – पिछले कुछ समय से आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास के खिलाफ पार्टी के भीतर बीजेपी का एंजेट होने की आवाज उठती रही है। अब पार्टी के कोषाध्यक्ष नए दीपक बाजपेयी और पूर्व दिल्ली इकाई संयोजक दिलीप पांडे ने ट्वीट के जरिए कुमार विश्वास पर निशाना साधने के बाद आज दिल्ली स्थित पार्टी दफ्तर के बाहर कुछ पोस्टर चिपकाएं गए हैं। इन पोस्टरों पर कुमार विश्वास के खिलाफ कई बातें कही गई हैं। Posters against kumar vishwas.

क्या लिखा है पोस्टर में –

Posters against kumar vishwas

दिल्ली स्थित पार्टी दफ्तर के बाहर चिपकाएं गए इन पोस्टरों में कुमार विश्वास को बीजेपी का समर्थक बताते हुए आप पार्टी का गद्दार नेता बताया गया है। पोस्टर के जरिए विश्वास को पार्टी से निकालने की भी मांग उठाई गई है। हालांकि, अभी तक ये साफ नहीं हुआ है कि ये पोस्टर किसने लगाए हैं।

पोस्टर में लिखा है:

“भाजपा का यार है। कवि नहीं गद्दार है।

छिप-छिप कर हमला करता है। वार पीठ पर करता है।

ऐसे धोखेबाजों को बाहर करो, बाहर करो।

कुमार विश्वास का काला सच खुलकर बताने के लिए भाई दिलीप पांडे का आभार।”

कुमार विश्वास की इस बात पर मचा है बवाल –

दरअसल, ये पूरा बवाल उस वक्त शुरु हुआ जब पार्टी में लगातार हो रहे विवादों पर बोलते हुए कुमार विश्वास कहा था कि वो राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर निजी हमला ना करके सरकार पर हमले करेंगे। उनकी इस बात पर दिलीप ने विश्वास से सार्वजनिक तौरपर माफी मांगने को कहा था।

दिलीप ने एक ट्वीट के जरिए कहा था कि ‘भैया, आप कांग्रेसियों को ख़ूब गाली देते हो, लेकिन कहते हो कि राजस्थान में वसुंधरा के खिलाफ नहीं बोलेंगे? ऐसा क्यों?’ गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों विशेषकर विधानसभा चुनावों के बाद विश्वास ने कई मौकों पर पार्टी और केजरीवाल के कामकाज के तरीकों पर कई बार सवाल उठाएं हैं।

Related Articles

Close