विशेष

NASA ने रिकॉर्ड की सूर्य की आवाज, तो सुनाई दिया ‘ऊँ’ – आप भी सुनें ये ऑडियो!

नई दिल्ली – नासा ने हाल ही में वोएजर यान को अंतरिक्ष में रवाना किया था जिसका उद्देश्य संपूर्ण ब्रह्मांड में सुनाई देने वाली आवाजों को रिकॉर्ड कर उनका विश्लेषण करना था। वोएजर यान से प्राप्त हुई आवाजों की रिकॉर्डिंग को तीन वर्षों तक अध्ययन करने के बाद नासा ने ब्रह्माण्ड में मौजूद रहस्यमयी आवाजों का विश्लेषण दुनिया के सामने रखा। इसके बाद यूट्यूब पर एक वीडियो खूब वायरल हुआ था जिसमें दावा किया गया कि ब्राह्मांड में व्याप्त ध्वनि को डिकोड करने के बाद नासा ने पाया कि ॐ की ध्वनि सुनाई दी है। NASA recording of sound of OM.

क्या सच में रिकॉर्ड की गई सूरज की आवाज में सुनाई दिया ‘ऊँ’ :

यह खबर पिछले महीने काफी वायरल रही कि ‘NASA’ द्वारा रिकार्ड की गई सूर्य की आवाज में ‘ऊँ’ सुनाई दिया है। लेकिन, क्या ऐसा सच में हुआ है। आज हम आपको इस बात की सच्चाई बताने जा रहे हैं। कुछ वक्त पहले यह खबर यूट्यूब समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर खूब छाई रही। यूट्यूब पर इसका वीडियो अभी मौजूद है। इससे पहले कुछ ऐसे भी दावे किए गए कि नासा ने ऐसी और भी खोज की हैं जिनमें अंतरिक्ष में उनके सैटलाइट के कैमरे में भगवान शिव की छवि दिखाई दी है।

यूट्यूब पर अपलोड इस वीडियो को दस लाख से ज्यादा लोग देख चुके हैं। इस वीडियो में बताया गया है कि सूरज की आवाज को सुनना हमारे लिए मुमकिन नहीं है। इसलिए वैज्ञानिकों ने 40 दिन की रिकॉर्डिंग को छोटा कर कुछ सेकंड का बनाया जिसमें एक आवाज सुनने को मिली जो आप इस वीडियो की शुरुआत में सुन सकते हैं।

क्या है रिकॉर्ड की गई सूरज की आवाज में ‘ऊँ’ सुनाई देने का सच :

विज्ञान के मुताबिक किसी ऑब्जेक्ट में किसी तरह की क्रिया के फलस्वरूप कोई मूवमेंट या हलचल होने पर ही कोई आवाज निकलती है। यह हलचल हवा में एक तरंग पैदा करती है जो वायुकणों के जरिए हमें सुनाई देता है। लेकिन इस आवाज को कानों तक पहुंचने के लिए भी तरंग की अपनी शक्ति होती है। इस वीडियो में ऊँ की आवाज काफी हद तक साफ-साफ सुनाई दे रही है। लेकिन दूसरे वीडियो में जो आवाज है वह साफ सुनाई नहीं दे रही है।

जैसा कि हम जानते हैं कि सूरज हाइड्रोजन और हीलियम जैसी गैसों के संयोग से बना है। सूर्य में इन गैसों के कारण निरंतर धमाके होते रहते हैं, जिसके कारण सूरज में कंपन होता रहता है। वैज्ञानिकों ने इसी कंपन की 40 दिनों की रिकॉर्डिंग को कुछ सेकंड में बदला जिसमें उन्हें यह आवाज सुनने को मिली। ‘ऊँ’ का उच्चारण ‘ओ’ और ‘म’ की तरह होता है। दरअसल, जिस वीडियो में ऊँ सुनने का दावा किया गया है, उसमें इन दोनों आवाजों के निकलने का कोई लॉजिक नहीं है। इसलिए इस पर यकीन करना सही नही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close