ब्रेकिंग न्यूज़

एशिया की पहली उड़ने वाली कार भारतीय आसमान में जल्द आएगी नज़र, कॉन्‍सेप्‍ट मॉडल हुआ पेश

हाइब्रिड फ्लाइंग कार न सिर्फ रोड पर चलेगी बल्कि हवा में भी उड़ेगी, बिना रिफ्यूलिंग 1 घंटे तक हवा में उड़ सकती है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार बयान दिया था कि हवाई चप्पल वाला व्यक्ति भी आने वाले समय में हवाई यात्रा कर सकेगा। लेकिन अब इस दिशा में एक कदम आगे बढ़कर काम हो रहा है। जी हां हवाई जहाज में बैठकर हवाई यात्रा करना तो अब आम बात हो चुकी है, लेकिन क्या आप यकीन करेंगे कि भारत में बहुत जल्द कार में बैठकर भी हवाई यात्रा की जा सकेगी। जी हां, भारतीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने इस ड्रीम प्रोजेक्ट को पूरा करने की दिशा में कदम बढ़ा दिया है।

Flying Hybrid Car


बता दें कि सोमवार को नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि भारत में जल्‍द पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार शुरू हो सकती है। सिंधिया ने बताया कि VINATA AeroMobility की युवा टीम के द्वारा एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार कॉन्सेप्ट पेश किया गया है, ये मुझे बहुत पसंद आया और इस कॉन्सेप्ट को देखकर मुझे बेहद खुशी हुई। इस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि इन फ्लाइंग कार का इस्तेमाल आने वाले समय में कार्गो ट्रांसपोर्ट के साथ-साथ मेडिकल इमरजेंसी सेवाएं देने के लिए भी किया जा सकता है।


वहीं आपको बता दें कि चेन्नई स्थित विनाटा एरोमोबिलिटी 5 अक्टूबर को दुनिया की सबसे बड़ी हेलिटेक प्रदर्शनी – एक्सेल, लंदन में अपनी स्वायत्त हाइब्रिड फ्लाइंग कार लॉन्च करने के लिए पूरी तरह तैयार है। विनाटा की हाइब्रिड फ्लाइंग कार में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के साथ डिजिटल इंस्ट्रूमेंट पैनल हैं, जो अपनी कार को उड़ाने और चलाने के अनुभव को अधिक आकर्षक और परेशानी मुक्त बनाते हैं।

कार इन फीचर्स से होगी लैस…

Flying Hybrid Car

बता दें कि कंपनी का दावा है कि उसकी फ्लाइंग कार बहुत शानदार है। इसका लुक बाहर से जितना आकर्षक है, उतना ही अंदर से ये कार खूबसूरत है। इसमें जीपीएस ट्रैकर और बोर्ड पर मनोरंजन है। उड़ने वाली कार में पैनोरमिक विंडो कैनोपी है जो 300 डिग्री का दृश्य प्रदान करती है।

हवा में अधिकतम 1300 किग्रा वजन के साथ उड़ेगी यह कार…

गौरतलब हो कि यह फ्लाइंग कार अधिकतम 1300 किलोग्राम वजन के साथ हवा में उड़ सकती है। यह कार 120 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम स्‍पीड के साथ 60 मिनट तक उड़ान भर सकती है। वहीं रेंज की बात करें तो फ्लाइंग कार बिना रिफ्यूलिंग के 100 किलोमीटर तक उड़ सकती है। यह ग्राउंड लेवल से अधिकतम 3000 फुट की ऊंचाई पर उड़ान भरने में सक्षम है।


इतना ही नहीं फ्लाइंग कार विनिर्माता विनाता एयरोमोबिलिटी ने दावा किया है कि वास्‍तविक आकार लेने के बाद यह फुली ऑटोनोमस हाइब्रिड-इलेक्ट्रिक वीटीओएल व्‍हीकल एक बार में दो यात्रियों को साथ लेकर उड़ने में सक्षम होगा। इसमें एक को-एक्सिअल क्‍वाड-रोटर सिस्‍टम लगा होगा, जो आठ बीएलडीसी मोटर्स से पावर लेगा, जो आठ फ‍िक्‍स्‍ड पिच प्रोपेर्ल्‍स के साथ आती है। वाहन में मोटर को चलाने के लिए बायोफ्यूल का इस्‍तेमाल किया जाएगा।

Back to top button