ब्रेकिंग न्यूज़

जिम ट्रेनर और डॉक्टर की बीवी के बीच1100 बार हुई थी बात, गोली लगने के बाद हुई थी विक्रम की मौत

बीते शनिवार बिहार की राजधानी पटना में जिम ट्रेनर विक्रम सिंह को कुछ बदमाशों ने सरेआम गोली मार दी थी। पांच गोलियां लगने के बावजूद विक्रम 2.5 किलोमीटर की दूरी तय कर अस्पताल पहुंचा था। विक्रम को जब होश आया तो उसने बयान दिया था कि इस हमले के पीछे डॉक्टर राजीव कुमार सिंह और उनकी पत्नी खुशबू का हाथ है। इसके बाद पुलिस ने डॉक्टर राजीव और उनकी बीवी खुशबू को हिरासत में ले लिया था। हालांकि दोनों को बाद में इस शर्त पर छोड़ दिया गया था कि वे शहर छोड़कर नहीं जाएंगे।

gym-trainer

अब इस मामले में एक नया खुलासा हुआ है। पुलिस को जांच में पता चला कि डॉक्टर राजीव की पत्नी खुशबू और जिम ट्रेनर विक्रम अक्सर मोबाइल पर बातचीत किया करते थे। दोनों के बीच फोन पर करीब 1100 बार बात हुई थी। उनकी बातचीत इस साल जनवरी से शुरू हुई थी। ऐसे में हम डॉक्टर की पत्नी और जिम ट्रेनर के मध्य क्या रिश्ता था इसे लेकर भी सवाल उठने शुरू हो गए हैं।

gym-trainer

डॉ. राजीव कुमार सिंह जनता दल यूनाइटेड के नेता भी हैं। हालांकि जब उनका नाम इस हत्या में शामिल हुआ तो जेडीयू की डॉक्टर्स विंग के प्रदेश उपाध्यक्ष रहे डॉ. राजीव को उनके पद से निरस्त कर दिया। डॉ. सिंह और उनकी पत्नी पटना की पाटलिपुत्र कॉलोनी में रहते हैं। पुलिस को शुरुआती जांच में पता चला है कि पति पत्नी ने साजिश रचते हुए जिम ट्रेनर विक्रम सिंह का मर्डर करने के लिए कुछ शूटर्स को ठेके पर रखा था।

gym-trainer

जांच में ये भी जानकारी मिली है कि जिम ट्रेनर विक्रम और डॉ की पत्नी खुशबू इस साल जनवरी से एक दूसरे को जानते थे। इस बात का खुलासा तब हुआ जब पुलिस ने दोनों के मोबाइल फोन के कॉल डिटेल रिकॉर्ड खंगाले। पुलिस को इस जांच में पता चला कि विक्रम और खुशबू के मध्य फोन पर लगभग 1100 बार बातचीत हुई थी। ये भी आरोप है कि डॉ. राजीव कुमार सिंह ने कथित तौर पर अप्रैल माह में विक्रम को मारने की धमकी दी थी। ये धमकी उन्होंने विक्रम को उनकी पत्नी खुशबू के साथ संबंध बनाने के लिए दी थी।

gym-trainer

डॉ. राजीव कुमार सिंह एक फिजियोथेरेपिस्ट हैं। उनका पटना के बोरिंग रोड इलाके में एक क्लिनिक भी है। डॉ. के धमकी देने के कुछ महीनों बाद बीते शनिवार सुबह विक्रम को कुछ बदमाश गोली मार देते हैं। पुलिस ने जब सीसीटीवी फुटेज खंगाला तो देखा कि इस घटना को अंजाम देने वाले पांच अज्ञात अपराधी थे। ये सभी जिम ट्रेनर को गोली मारने के बाद वहाँ से पैदल ही रफूचक्कर हो गए।

उधर जिम ट्रेनर विक्रम गोली लगने के बाद भी 2.5 किलोमीटर की दूरी तय कर अस्पताल जा पहुंचा। यहां उसने होश आने पर डॉ. राजीव कुमार सिंह और उनकी पत्नी खुशबू पर हत्या का शक जताया। यह पूरा मामला अब सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है। मामले को देखने पर यही लगता है कि डॉ. सिंह जिम ट्रेनर से अपनी बीवी के साथ संबंध बनाने के लिए बदला लेना चाहते थे। हालांकि इस बात में कितनी सच्चाई है इसका पता कोर्ट में जल्द चल जाएगा।

Back to top button