अब नए बदलाव के साथ जारी होगी 500 की नोट, RBI ने पूरी की तैयारियां!

नोटबंदी से कालाधन पर लगाम लगाने के बाद अब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 500 के नए नोट जारी करने का निर्णय लिया है, ये नए नोट अलग सीरीज के होंगे, इनमें बाकी नोटों के मुकाबले कुछ बदलाव किये जायेंगे. मगर आपके वर्तमान के नोट चलन में बने रहेंगे. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के मुताबिक नई सीरीज के नोट इनसेट लेटर के लिहाज से अलग होंगे.

500 के नए नोट जारी करने की तैयारी :

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 500 रुपये की नई सीरीज की करेंसी जारी करने की तैयारी कर ली है. गौरतलब है कि पिछले साल पीएम मोदी ने देश में नोटबंदी की घोषणा की थी जिसके बाद 500 और एक हजार के तात्कलिक करेंसी नोटों का चलन बंद कर दिया गया था. उसके बाद रिजर्व बैंक ने 500 और 2000 रूपये के नए नोट जारी किये थे, जो कि पूरी तरह से नए स्वरूप में थे. ये नोट पिछले साल जारी किये गए थे.

रिजर्व बैंक अब 500 के जो नए नोट जारी करेगा उनमें सीरीज का बदलाव होगा, नई सीरीज के नोटों में नंबर पैनल में अंग्रेजी में A छपा होगा, इससे पहले की सीरीज के नोटों में नंबर पैनल में E लिखा होता था. यानी कि पहले जारी किये गए नोट E सीरीज के थे और अब जारी किये जाने वाले नोट A सीरीज के होंगे. इसके अलावा नोट पर रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर के साथ साथ छपाई का साल 2017 भी प्रकाशित होगा. साथ ही नई सीरीज की नोटों पर भी दूसरी तरफ स्वच्छ भारत अभियान का लोगो छापा जायेगा.

गौरतलब है कि सरकार और रिजर्व बैंक के साझा कदम के तहत पिछले साल नवम्बर में नोटबंदी की घोषणा की गयी थी जिसके चलते चलन में मौजूद 500 और 1000 के नोटों की वैधानिक मान्यता खत्म कर दी गई थी. और सरकार के इस कदम से बाजार में उपलब्ध लगभग 87 प्रतिशत नकदी चलन से बाहर हो गयी. इसकी वजह से देश के कई हिस्सों में अभी भी नकदी की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है.

रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर बी पी कानूनगो ने 500 के नए सीरीज वाले नोटों को जारी किये जाने की सूचना दी हालांकि उन्होंने कहा की यह कहना गलत होगा कि प्रणाली में मुद्रा की कोई कमी है. साथ ही उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि कुछ जगहों पर नकदी की कमी हो सकती है लेकिन रिजर्व बैंक हालात पर नियमित रूप से निगरानी रख रहा है और नकदी उपलब्ध कराने के लिए पर्याप्त बंदोबस्त किये जा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.