अध्यात्म

घर की तरक्की में बाधा डालते हैं ये 4 पौधे, इन्हें घर में लगाने की भूल न करें

हिन्दू धर्म में पेड़ पौधों को भी पूजनीय माना गया है। इन्हें लेकर कई तरह की मान्यताएं भी हैं। कहते हैं कि ये पौधे हमारी लाइफ पर सकारात्मकता और नकारात्मकता प्रभाव डालते हैं। पेड़ पौधों को वास्तु से भी जोड़कर देखा गया है। वास्तु शास्त्र की माने तो हमे अपने घर के आसपास कुछ खास पौधों को लगाने से बचना चाहिए। इन पौधों को घर आंगन में लगाया जाए तो मां लक्ष्मी नाराज हो जाती है। इससे पैसों का संकट छा जाता है। साथ ही परिवार में कलह के चांस भी बढ़ जाते हैं। तो चलिए जानते हैं कि किन किन पौधों को घर या आसपास लगाने से परहेज करना चाहिए।

बबूल का पेड़

babul ke ped

वैसे तो बाबुल के पेड़ में बहुत से आयुर्वेदिक गुण होते हैं, लेकिन वास्तु की माने तो इन्हें घर या आसपास लगाने से बचना चाहिए। दरअसल बबूल में कांटे होते हैं जो वास्तु की दृष्टि से घर में गृहक्लेश का कारण बन सकते हैं। इससे घर की तरक्की रुक भी सकती है। इसलिए बबूल या कोई भी कांटेदार पेड़ पौधा घर में नहीं लगाना चाहिए। इससे आपका नुकसान ही होता है। हालांकि गुलाब का पौधा इसका अपवाद है। इसकी वजह ये है कि गुलाब मां लक्ष्मी का प्रिय होता है। इसलिए आप इसे घर आंगन में लगा सकते हैं।

बेर का पेड़

ber ka ped

बेर के पेड़ को कई लोग विघ्नकारी पेड़ भी कहते हैं। मान्यता है कि बेर का पेड़ जहां भी होता है वहां नकारात्मक शक्तियां वास करती हैं। इसका आपके घर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। आप जो भी काम करते हैं उसमें बाधा आने लगती है। इसलिए घर या आसपास में बेर का पेड़ लगाने से बचना चाहिए। यदि यह आपके घर के पास हो तो उसे कटवा देना चाहिए।

खजूर का पेड़

khajur ka ped

दिखने में खजूर का पेड़ बहुत ही खूबसूरत होता है। ये जिस भी घर के आगे लगा हो उसकी सुंदरता में चार चांद लग जाता है। लेकिन वास्तु के अनुसार इसे आपको घर के आसपास नहीं लगाना चाहिए। मान्यता है कि खजूर का पेड़ जिस घर के पास होता है वहां पैसा पानी की तरह बहता है। वहां की अर्थित स्थिति कमजोर होती जाती है।

बोनसाई के पौधे

bansoi ka ped

बोनसाई एक जापानी शब्द है। इसका हिन्दी में मतलब है बौने पौधे। इन पौधों की लंबाई बहुत कम होती है। इसलिए लोग घर में इन्हें सजावट के रूप में लगाना पसंद करते हैं। लेकिन वास्तु के अनुसार आपको ऐसा नहीं करना चाहिए। इन पौधों को लगाने से सफलता में रुकावट पैदा होती है। इसकी वजह ये है कि इन पौधों को बढ़ने से पहले ही काट दिया जाता है। इससे ये बोने हो जाते हैं। इस कारण इनसे नेगेटीव एनर्जी अधिक निकलती है।

इस दिशा में न लगाएं पौधा

घर में जब भी पौधे लगाएं तो दिशा का भी ध्यान रखें। घर के मेन गेट के ठीक सामने कोई भी पेड़ या पौधा नहीं लगाना चाहिए। घर के ब्रह्मस्थान पर भी पेड़ पौधे न लगाएं। इस स्थान को साफ सुथरा होना चाहिए। घर की दीवार से सटाकर भी पौधे न लगाएं। इससे घर की नींव कमजोर पड़ती है।

Show More
Back to top button