ब्रेकिंग न्यूज़

महिला ने 5 साल की बेटी संग जहर खाकर दी जान, मरने से पहले फोन पर बोली- पापा ये लोग बहुत बुरे हैं

देशभर में सुसाइड के मामले बढ़ते जा रहे हैं। खुदखुशी करने वालों की वजह छोटी से लेकर बड़ी तक होती है। ये लोग जीवन में कठिनाई और मुश्किलें आने पर हार मान लेते हैं। फिर इन्हें अपनी जान दे देना ही इन मुसीबतों से छुटकारा पाने का सबसे आसान तरीका लगता है। अब इनमें से कुछ ऐसे भी होते हैं जो खुद तो खुदखुशी करते ही हैं, लेकिन साथ में अपने बच्चों को भी ऐसा करने पर मजबूर कर देते हैं। एक छोटे से बच्चे को सुसाइड जैसी चीज की समझ नहीं होती है, लेकिन अपने माता पिता के टेंशन की बलि कई बार उसे देने पड़ती है।

haryana woman committed suicide

अब हरियाणा के भिवानी जिले के गांव रोहनात की इस घटना को ही ले लीजिए। यहां रवीना नाम की महिला ने अपनी 5 साल की बेटी के साथ जहर खाकर खुदखुशी कर ली। जब पति ने महिला को देखा तो उसके और बेटी के मुंह से झाग निकल रहा था। मां बेटी को अस्पताल भी ले जाया गया लेकिन बहुत देर हो चुकी थी। महिला के पास से 2 पेज का सुसाइड नोट भी मिला है। इस नोट में महिला ने जुल्म सहते सहते टूट जाने की बात कही है। इतना ही नहीं महिला ने अपनी मौत का जिम्मेदार ससुरालवालों को बताया है। उसने सुसाइड नोट में लिखा कि मैं कब तक इनके अत्याचार सहती रहूंगी.. चलिए इस पूरे मामले को थोड़ा और विस्तार से जानते हैं।

दरअसल रोहनात गांव निवासी रवीना नाम की महिला की शादी कुछ सालों पहले हुई थी। इस शादी से उसकी 5 साल की बेटी भी थी। एक दिन रवीना ने अपने पिता धर्मवीर सिंह को कॉल कर बताया कि उसके ससुरालवाले बहुत खराब हैं। वह उसे बहुत दुख देते हैं। इस कॉल के अगले दिन ही रवीना ने खुद और अपनी बेटी को जहर देकर आत्महत्या कर ली। रवीना का पति जब कमरे में आया तो पत्नी और बेटी के मुंह में झाग देख डर गया। वह दोनों को अस्पताल भी ले गया, लेकिन डॉक्टर ने दोनों को मृत घोषित कर दिया।

dead body hand

जल्द मामला पुलिस के पास पहुंच गया। पुलिस ने जब महिला के कमरे की तलाशी ली तो दो पेज का सुसाइड नोट बरमाद हुआ। इस सुसाइड नोट में महिला के ससुराल वालों की करतूत का जिक्र था। दरअसल रवीना अपने ससुराल वालों की दहेज प्रताड़ना से बहुत दुखी थी। उसका आरोप था कि ससुरालवाले उसे बार बार दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे। उसने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि – आखिर मैं कब तक इनके अत्याचारों को सहती रहूंगी, इनके जुल्मों को सहते-सहते टूट चुकी हूं। अब जीने की तमन्ना नहीं है। इसलिए  दुनिया को छोड़ अपनी बेटी के साथ जा रही हूं।

इस सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने मृतक महिला के पति और ससुरालवालों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। उधर पुलिस ने मृतका के पिता धर्मवीर सिंह को उनकी बेटी और नातिन का शव भी दे दिया। पिता ने बताया कि मैंने अपनी क्षमतानुसार दहेज दिया था। लेकिन बेटी के ससुरालवालों की मांगे दिन प्रतिदिन बढ़ने लगी। हालांकि मैं फिर भी उन्हें पूरी करने की कोशिश करता था। कल ही मेरी बेटी ने फोन कर कहा था कि पापा ये लोग बहुत खराब हैं। तब मैंने नहीं सोचा था कि उससे आखिरी बार बात हो रही है।

Show More
Back to top button