हर बाप को समझनी चाहिए अपनी बेटी के दुल्हन बनते वक्त ये 7 जरूरी बातें, बदल सकता है उसका जीवन!

एक बाप और उसकी बेटी के बीच का रिश्ता बड़ा ही पवित्र और प्यारा होता है। जहां बेटी के पैदा होते ही बाप को ख़ुशी होती है, वही दूसरी तरफ एक गम भी सताता है कि बेटी की शादी हो जाने के बाद वह उसे छोड़कर चली जाएगी। हालांकि दुल्हन के रूप में अपनी बेटी को देखने के बाद बाप को बहुत ख़ुशी होती है। शादी के बाद लड़की का संसार ही बदल जाता है।

शादी के बाद मायका छोड़ चली जाती है ससुराल:

वह अपना मायका छोड़कर नए लोगों के साथ ससुराल में चली जाती है। ऐसे में उसे कुछ बातें जानना बहुत जरूरी होता है। अन्यथा नई जगह और नए लोगों को देखकर वह घबरा जाती है। शादी के समय हर बाप को अपनी बेटी को कुछ जरूरी चीजें बतानी चाहिए। एक बेटी के लिए इससे बेहतर तोहफा और कुछ हो ही नहीं सकता है।

ये बातें बतानी चाहिये बाप को:

1- हर पिता को यह समझाना चाहिए कि ससुराल जाने के बाद वही लोग तुम्हारे अपने हो जायेंगे ऐसे में उनकी हर बात मानना। कुछ फैसले तुम्हारे लिए वो लोग लेंगे, ऐसे में अपनी जिद मत करना और उनके फैसलों को मान लेना।

2- ससुराल में तुम्हारे सास-ससुर ही अब से तुम्हारे माता-पिता होंगे। जैसे तुम हमें इज्जत देती थी, ठीक वैसे ही उनको इज्जत देनी होगी। अगर तुम उनके साथ प्यार से मिल जुलकर रहोगी तो दोनों के बीच एक अच्छा रिश्ता बनेगा।

3- हर घर की अपनी एक अलग परम्परा, रहन-सहन और संस्कृति होती है। ऐसे में तुम्हें वहां के हिसाब से रहना होगा और अपने कुछ तरीकों को वहां के हिसाब से बदलना पड़ेगा। हो सकता है कि कुछ समय के लिए यह सही ना लगे, लेकिन बाद में सब ठीक हो जायेगा।

4- कई बार ऐसी परिस्थितियां आती हैं कि इंसान टूट जाता है। हो सकता है तुम्हारे सामने भी ऐसी परिस्थितियां आयें। ऐसे में तुम हार मत मानना, और डटे रहना। समस्या को समझना और उसका हल खोजने की कोशिश करना।

5- हर व्यक्ति को अपने हिसाब से जीने की आदत होती है। किसी को टोका-टाकी पसंद नहीं होती है, खासतौर पर पुरुषों को। ऐसे में तुम उन्हें अपने हिसाब से बदलने की कोशिश मत करना। अगर तुम यह चाहती हो कि तुम जैसी हो वो तुम्हें ठीक वैसे ही अपनाएं तो तुम्हें भी उन्हें वैसे ही अपनाना होगा, जैसे वे हैं।

6- हर पिता को यह बात जरूर बतानी चाहिए कि आज के समय में सभी यही कहते हैं कि शादी के बाद ससुराल ही तुम्हारा घर है। लेकिन तुम यह मत भूलना कि तुम्हारा मायका भी तुम्हारा ही घर है। तुम्हें जब भी जरूरत हो तुम यहां आ जाना। यहां के दरवाजे हमेशा तुम्हारे लिए खुले रहेंगे।

7- तुम्हें जीवन में कोई भी परेशानी हो और तुम्हारे साथ कोई ना भी हो तो तुम यह मत भूलना कि मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहूंगा। तुम कितनी भी बड़ी क्यों ना हो जाओ, तुम मेरे लिए आज भी मेरी छोटी गुड़िया ही हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.