ब्रेकिंग न्यूज़

BJP नेता की बेटी को अगवा कर किया गैंगरेप फिर पेड़ से लटका दिया शव, 1 आरोपी हुआ गिरफ्तार

हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए पहले एक लड़की के साथ रेप किया गया। उसके बाद उसे पेड़ से लटका दिया गया। इस पूरी वारदात को सुसाइड दिखने की कोशिश की गई। लेकिन सच सबके सामने आ गया और आरोपियों में से एक को गिरफ्तार कर लिया गया है। जानकारी के अनुसार जिस लड़की के साथ रेप किया गया है वो स्थानीय बीजेपी नेता की बेटी है। लड़की के पिता का आरोप है कि उसकी बेटी के साथ कई लोगों ने मिलकर दुष्कर्म किया है। ये घटना झारखंड के पलामू जिले के एक गांव की है।

rape

किया था अगवा

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ये घटना 7 जून की है। लड़की किसी काम से घर से बाहर गई थी। जिसके बाद वो वापस नहीं लौटी। लड़की के परिवार वालों ने पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। पुलिस ने जब जांच शुरू की तो उन्हें लड़की का शव जंगल में एक पेड़ पर लटका हुआ मिला। पुलिस के अनुसार मौत को आत्महत्या दिखाने की कोशिश की गई थी। पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जिसका नाम प्रदीप कुमार सिंह है।

लड़की के घरवालों के अनुसार उनकी बेटी सुबह 10 बजे घर से बाहर गई थी। जब वो वापस नहीं आई, तब उन्होंने अपनी तरफ से तलाशी शुरू कर दी। न मिलने पर परिजनों ने पांकी थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। पुलिस पीड़िता को ढूंढने का प्रयास कर ही रही थी कि बुधवार को उन्हें लालीमाटी जंगल में पेड़ पर शव लटकने की जानकारी मिली। जिसके बाद शव को पुलिस ने पेड़ से उतारा।

मृतक लड़की के पिता और बीजेपी नेता का कहना है कि उनकी बेटी का सामूहिक दुष्कर्म हुआ था और बाद में उसकी आंख भी फोड़ दी गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इनकी कुल चार बेटियां हैं और एक बेटा है। सामूहिक दुष्कर्म इनकी बड़ी बेटी के साथ किया गया है।

arrest

इस तरह से पकड़ा गया आरोपी

पुलिस को मौके से एक मोबाइल फोन बरामद हुआ था। जिसके आधार पर ही एक आरोपी प्रदीप की गिरफ्तारी हुई है। पांकी के थाना पुलिस के मुताबिक, पीड़िता के परिजनों ने गायब होने से संबंधित गुमशुदगी का केस दर्ज कराया था। पुलिस छानबीन में जुटी थी। तभी उन्हें जंगल में शव मिलने की जानकारी मिली। पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टिया में उसकी हत्या करने के बाद आत्महत्या बताने के लिए हत्यारे ने उसे पेड़ के सहारे फंदे से लटका दिया है। लड़की की अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई है। उसका इंतजार किया जा रहा है।

Show More
Back to top button