अध्यात्म

आर्थिक लाभ पाने के लिए शरीर के इस अंग में बांध लें काला धागा, धन से भर जाएगा घर

काले धागे को बांधने से कई तरह के लाभ जुड़े हुए हैं। शरीर में इस धागे को बांधने से कई परेशानियां दूर हो जाती हैं। आमतौर पर काले धागे को गले, बाजु, कमर, पैर या फिर कलाई में बांधा जाता है। लाल किताब के अनुसार काले धागे को धारण करना बेहद ही लाभकारी होता है। हालांकि काले धागे को पहनते समय कुछ नियमों का पालन करना होता है। अगर इन नियमों के तहत धागा धारण किया जाए तो ही लाभ मिलता है।

शरीर में काला धागा बांधने के फायदे

बुरी नजर से बचाए

काले धागे को पहने से बुरी नजर से रक्षा होती है। जिन लोगों को आसानी से नजर लग जाती है। वो इसे जरूर धारण करें। बुरी नजर से बचने के लिए इसे पैरों में धारण करें। वहीं बच्चों को बुरी नजर से बचाने के लिए इस धागे को उनके हाथों में बांध दें।

शनि ग्रह रहे शांत

काले धागे का संबंध शनि ग्रह से भी माना गया है। इस धागे को धारण करने से कुंडली में शनि ग्रह मजबूत होता है और शनिदोष से भी मुक्ति मिलती है। दरअसल शनि काले रंग का कारक होता है। इसलिए काले रंग का धागा धारण करना लाभकारी माना जाता है। हालांकि इस धागे को आप केवल शनिवार के दिन ही धारण करें। ये धागा पहने से पहले इसे शनि देव के चरणों में अर्पित करें, फिर पूजा कर लें। पूजा करने के बाद काले धागे को पहन लें। इसे गले व हाथ में ही धारण करें।

आर्थिक लाभ के लिए

कई लगो आर्थिक लाभ के हेतु भी काले धागे को धारण करते हैं। काले धागे को धारण करने से धन से जुड़ी समस्याएं दूर हो जाती हैं और घर में समृद्धि का आगमन होता है। आर्थिक लाभ पाने के लिए मंगलवार के दिन दाहिने पैर में काला धागा बांध दें।

सेहत के लिए

काला धागा सेहत के लिए भी उत्तम माना जाता है। जिन लोगों को पेट में दर्द की शिकायत रहती है। वो लोग अपने पैरों के अंगूठे में इस धागे को बांध लें। ऐसा करने से पेट दर्द कम हो जाती है और इससे आराम मिल जाता है। इतना ही नहीं पैर में काला बांधने से पैर की चोटें भी ठीक हो जाती हैं। जिन बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती हैं। उन्हें भी पैरों के अंगूठे में काला धागा बांध दें। ऐसा करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है।

घर को बचाए बुरी नजर से

घर को बुरी नजर से बचाने के लिए काला धागा मुख्य दरवाजे पर बांध दें। ऐसा करने से घर की रक्षा बुरी नजर से होती है। उपाय के तहत आप  काले धागे में नींबू-मिर्ची बांधकर घर के मुख्य दरवाजे पर लटका सकते हैं और समय-समय पर इसे बदलते रहें। इस धागे को व्यापार स्थल पर भी बांधा जा सकता है। व्यापार स्थल पर इस धागे को बांधने से व्यापार में तरक्की होती है।

रखें इन बातों का ध्यान

काला धागा पहनने से पहले कई तरह की सावधानियां बरतनी होती है। जो कि इस प्रकार है।

  • शरीर के जिस हिस्से में काला धागा बांध रहे हैं, उस जगह पर ओर कोई धागा नहीं होना चाहिए। अगर पहले से कोई धागा पहन रखा है, तो उसे निकाल दें और फिर काले धागे को धारण कर लें।
  • काले धागे को बांधने के लिए शनिवार का दिन सबसे उत्तम दिन है।
  • काले धागे को अभिमंत्रित करने के पश्चात् ही धारण करना चाहिए। इसे अभिमंत्रित करने के लिए आप किसी ज्योतिष से मदद ले सकते हैं।
  • एक बार इस धागे को धारण करने के बाद इसे बार-बार न खोलें। ऐसा करने से इसका असर कम होने लग जाता है।
  • काला धागा बांधने वाले व्यक्ति को रुद्र गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए। ये मंत्र इस प्रकार है।

मंत्र – ॐ तत्पुरुषाय विद्महे महादेवाय धीमहि
 तन्नो रुद्रः प्रचोदयात्॥

Back to top button
?>