‘दूसरा पप्पू’ बनने की राह पर अखिलेश यादव, शहीदों पर दिया बेवकूफों वाला बयान!

लखनऊ – उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर ऐसा लग रहा है कि राहुल गांधी का असर पड़ गया है। अब वो भी बिना सिर पैर के ‘पप्पू’ वाला बयान देने लगे हैं। आज उन्होंने शहीदों को एक क्षेत्र विशेष से जोड़कर ऐसा बयान दिया जिसका कोई मतलब ही नहीं बनता है। अखिलेश यादव ने समाचार एजेंसी ANI से कहा कि, ‘यूपी, मध्य प्रदेश, दक्षिण भारत हर जगह से सीमा पर और देश की रक्षा में जवान शहीद होते हैं, लेकिन गुजरात से कोई जवान शहीद हुआ है तो बताओ।’ शहीदों पर अखिलेश के इस बयान से तो ऐसा लग रहा है कि उन पर राहुल की संगति का असर पड़ गया है या वो हार से गहरे सदमे में हैं। Akhilesh yadav Insults Martyrs.

गुजरात से कोई शहीद हुआ हो तो बताओ –

 

एक तरफ आए दिन सीमा पर जवान देश के लिए शहीद हो रहे हैं, तो वहीं दूसरी तरफ अखिलेश जैसे नेता जवानों की शहादत पर राजनीति करने में लगे हुए हैं। बुधवार को अखिलेश ने मीडिया से कहा, ‘यूपी, मध्य प्रदेश, दक्षिण भारत हर जगह से शहीद हुए हैं, गुजरात का कोई जवान शहीद हुआ हो तो बताओ।’ अखिलेश ने ऐसा बेतुका बयान क्यों दिया यह साफ नहीं हुआ है।

ऐसा पहली बार नहीं है कि किसी नेता ने शहीदों की शहादत पर राजनीति की हो। इससे पहले JDU के पूर्व नेता भीम सिंह ने पुंछ में शहीद जवानों के बारे में शर्मनाक बयान देते हुए कहा था कि लोग सेना और पुलिस में मरने के लिए ही आते हैं। भीम सिंह के इस बयान पर पर बहुत बवाल हुआ था और उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी।

सोशल मीडिया के निशाने पर आए अखिलेश यादव –

शर्मनाक !! देखें किस तरह मुलायम सिंह का ये मंत्री खुलेआम बोल रहे हैं "हिन्दू उत्तर प्रदेश छोड़ दें"

अपने इस बेतुके बयान के बाद अखिलेश यादव सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गए हैं। अखिलेश के इस बयान पर सोशल मीडिया पर लोगों ने नाराजगी दिखाई और ट्वीटर पर #AkhileshInsultsMartyrs ट्रेंड करने लगा। एक यूजर ने अखिलेश पर निशाना साधते हुए लिखा है कि, ये सब राहुल गांधी की संगति का असर है, इसलिए अखिलेश को उसके पिता जी ने राहुल से दोस्ती करने से रोका था।

अखिलेश के इस बयान को बीजेपी सांसद आरके सिंह ने संकीर्ण मानसिकता का बताया। उन्होंने कहा कि देश की सेना को जात-पात और राज्यों के हिसाब से नहीं बांटा जा सकता। नेताओं को सेना को राजनीति से दूर रखना चाहिए। मुझे शर्म आती है कि देश के सबसे बड़े राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री ने इस तरह का बयान दिया है। अखिलेश यादव को अपने इस बयान पर देश से और जवानों से माफी मांगनी चाहिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.