राजनीति

अन्ना हजारे ने केजरीवाल पर साधा अप्रत्यक्ष रूप से निशाना, भ्रष्टाचारी नेताओं के लिए की फाँसी की माँग!

एक समय था जब केजरीवाल और अन्ना हजारे भ्रष्टाचार के खिलाफ एक साथ आवाज बुलंद करते थे। उस समय दोनों एक दुसरे के काफी करीब थे। केजरीवाल अन्ना के सबसे चहेते व्यक्ति थे। अन्ना बिना केजरीवाल से पूछे कुछ भी नहीं करते थे। फिर समय ने करवट ली और दोनों के रास्ते अलग-अलग हो गए।

धीरे-धीरे सामने आ गयी केजरीवाल की असलियत:

अन्ना से बिछड़ने के बाद केजरीवाल ने अपनी पार्टी बनाई और उसके जरिये भ्रष्टाचार को ख़त्म करने की बात की। उस समय अन्ना ने उनका साथ भी दिया था। लेकिन धीरे-धीरे अन्ना हजारे के सामने केजरीवाल की असलियत आने लगी। अब ये वक़्त आ गया है कि अन्ना जब भी मौका मिलता है केजरीवाल के ऊपर निशाना साधने से नहीं बचते हैं।

मामले की तह तक जाने के लिए जाँच शुरू:

अभी हाल ही में केजरीवाल और उनके के नेता के खिलाफ भ्रष्टाचार का संगीन आरोप लगाया गया है। यह मामला अब एंटी करप्शन ब्यूरो के हाथ में है। एसीबी इस मामले की तह तक जाने के लिए जाँच भी शुरू कर चुकी है। अब यह तो समय ही बताएगा कि अरविन्द केजरीवाल सच में इस भ्रष्टाचार के मामले में हैं या नहीं।

केजरीवाल के भ्रष्टाचार मामले से बहुत आहत हैं अन्ना:

हालांकि जो भी लेकिन अन्ना ने इस मामले पर केजरीवाल के ऊपर जमकर निशाना साधा। उनका कहना है कि देश के सभी भ्रष्टाचारी नेताओं को फाँसी की सजा देनी चाहिए, तभी देश से भ्रष्टाचार ख़त्म होगा। इससे पहले भी केजरीवाल के ऊपर बहुत से भ्रष्टाचार के आरोप लग चुके हैं। इससे अन्ना काफी आहत हुए थे। केजरीवाल के तजा भ्रष्टाचार मामले पर अन्ना पहले जानकारी लेंगे, तभी कुछ इसपर कहेंगे।

रेप के दोषियों की तरह से देनी चाहिए फाँसी:

फ़िलहाल जो भी हो अन्ना ने अप्रत्यक्ष रूप से केजरीवाल और इनके जैसे कई नेताओं के ऊपर निशाना साधा है। उनका मानना है कि रेप के दोषियों को जिस तरह से सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा दी है, वैसे ही भ्रष्ट नेताओं को भी मौत की सजा देनी चाहिए। अगर ऐसा हुआ तभी देश से भ्रष्टाचार पूरी तरह ख़त्म हो पायेगा।

Back to top button