कांग्रेस और अखिलेश पर भड़के मुलायम, कहा– हमारी जिंदगी खराब करने में कोई कसर नहीं छोड़ी

उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव बीत गए समाजवादी पार्टी का जनाधार खत्म होने को है, पार्टी के दो फाड़ हो चुके हैं, शिवपाल यादव ने नई पार्टी बनाने और मुलायम सिंह यादव को पार्टी का मुखिया बनाने का एलान भी कर दिया है, फिर भी यादव परिवार सियासी ड्रामा रुकने का नाम नहीं ले रहा है, रविवार को मैनपुरी में पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के वरिष्ठ नेता मुलायम सिंह यादव ने एक कार्यक्रम के दौरान अखिलेश यादव और रामगोपाल को खूब खरी खोटी सुनाई.

मुलायम सिंह यादव मैनपुरी में शहीद धर्मेन्द्र यादव की प्रतिमा का अनावरण करने पहुंचे थे, वहां उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ने कांग्रेस से गठबंधन किया इसीलिए पार्टी चुनाव में हार गई, उन्होंने हार के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि हमारी जिंदगी बर्बाद करने में कांग्रेस ने कोई कसर नहीं छोड़ी, जिस कांग्रेस ने उनपर कई मामले दर्ज कराये अखिलेश ने उसी कांग्रेस से गठबंधन कर लिया. उन्होंने कहा कि सपा खुद अपनी गलती से चुनाव हार गयी.

मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश खेमे के बड़े नेता और अपने भाई रामगोपाल पर भी निशाना साधा उन्होंने शिवपाल यादव के उस बयान का समर्थन किया जिसमें शिवपाल ने रामगोपाल को शकुनी बताया था, नेता जी ने कहा कि शिवपाल को हराने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई, यहां तक कि पैसा भी खर्च किया गया.

मुलायम सिंह ने सपा की बुरी दशा के लिए कांग्रेस से गठबंधन को ही जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से पार्टी को मजबूत करने के लिए काम करने की अपील की. इसके अलावा उन्होंने केंद्र और पीएम मोदी पर भी निशाना साधा, उन्होंने कहा कि मोदी ने एक भी वादा पूरा नहीं किया, झूठ बोलकर जनता को ठग रहे हैं, मुलायम सिंह ने 15 लाख रूपये खाते में आने वाली बात को भी उठाया और कहा कि पीएम मोदी 15 लाख रूपये खाते में देने का वादा करके सत्ता में आये लेकिन 15 हजार रूपये भी किसी के खाते में नहीं पहुंचे.

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी में लम्बे समय से सियासी कलह और उथल पुथल मची हुई है, ऐसे में आये दिन पार्टी के नेताओं से एक दूसरे के लिए परस्पर विरोधी बयान सुनने को मिलते रहते हैं, हाल ही में शिवपाल यादव ने नई पार्टी बनाने की बात कही थी, और मुलायम सिंह को उसका मुखिया बनाने की बात कही थी उन्होंने कहा था कि हम नेता जी को उनका खोया हुआ सम्मान वापस दिलाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.