ब्रेकिंग न्यूज़

कोरोना वैक्सीन चोरी करने के बाद चोरों ने मांगी माफी, कहा- सॉरी पता नहीं था की ये दवाई है

हरियाणा के एक अस्पताल से बुधवार रात दो चोरों ने कोरोना वैक्सीन की चोरी कर ली। हालांकि कुछ ही घंटों बाद इन चोरों को अपनी गलती का एहसास हुआ और इन्होंने ये वैक्सीन वापस कर दी। साथ में ही एक नोट भी छोड़ा जिसमें मांफी मांगी। ये मामला हरियाणा के नागरिक अस्पताल का है। खबर के अनुसार अस्पताल स्थित पीपी सेंटर से 1710 कोवडि वैक्सीन चोरी हो गई थी। इसमें 1270 वैक्सनी कोविशील्ड व 440 कोवैक्स की थी।

अस्पताल को जैसे ही चोरी का पता चला उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी दी। पुलिस ने छानबीन में पाया कि रात 12 बजकर 44 मिनट पर पीपी सेंटर के साथ लगे पार्क की ग्रिल फांदकर दो लोग यहां आए थे। जिन्होंने इस चोरी को अंजाम दिया। ताला तोड़कर ये पीपी सेंटर के अंदर दाखिल हुए थे और इन्होंने फ्रिजर में रखी 1770 कोविड वैक्सीन डोज चोरी कर ली। सीसीटीवी कैमरे में रात एक बजकर छह मिनट पर चोर पीपी सेंटर से बाहर निकलते हुए दिखाई दे। चोरों ने इस पूरी वारदात को 22 मिनट में अंजाम दिया है।

थाने में पहुंचाई वैक्सीन

वैक्सीन चोरी करने के 12 घंटे बाद चोरों ने इन्हें वापस कर दिया। एक चोर दोपहर लगभग 12 बजे सिविल लाइन थाने के बाहर चाय के खोखे पर पहुंचा और वहां पर बैठे एक बुजुर्ग को थैला देकर कहा कि इसे थाने में पहुंचा देना। ये थैला जब पुलिस के पास पहुंचा। तो पुलिस ने इसे खोलकर देखा। इस थैले में चोरी हुई कोविड वैक्सीन थी। साथ में ही एक पत्र भी था। जिसपर लिखा गया था कि ‘सॉरी मुझे नहीं पता था कि इसमें कोविड वैक्सीन है’।

पुलिस ने थाने से बाहर आकर आरोपी की तलाश भी कि लेकिन जब तक वो जा चुका था। आरोपी की खोज के लिए अब पुलिस सफीदों रोड के आसपास लगे सीसीटीवी का सहारा ले रही है।

हुआ ढाई लाख रुपये का नुकसान

पुलिस के अनुसार 1710 डोज वैक्सीन बर्बाद हो गई हैं। यह दवा अब किसी को नहीं लगाई जा सकती है। चोरों की गलती से करीब ढाई लाख रुपये का नुकसान हुआ है। दरअसल कोरोना वैक्सीन एक घंटे भी फ्रिज से बाहर रखी जाए तो ये काम नहीं आती है। दवा को दो से आठ डिग्री के तापमान पर रखना होता है। एक घंटे तक बाहर रहने पर खराब हो जाती है।

पुलिस ने प्राथमिक जांच में पाया है कि चोर चोरी करके कुछ कमाना चाहते थे। पुलिस के अनुसार ये लोग कंप्यूटर या अन्य सामान चोरी करने आए थे। लेकिन गलती से वैक्सीन लेकर चले गए और कुछ रिपोर्ट भी अपने साथ ले गए। गायब हुई रिपोर्ट की भी जांच की जाएगी कि कौन-कौन सी फाइल गायब है। वहीं चोरों की जांच में पुलिस लगी हुई है।

Back to top button