ब्रेकिंग न्यूज़

जानें: वैक्सीन की पहली खुराक के बाद अगर हो जाए कोरोना, तो दूसरी डोज लेनी चाहिए की नहीं?

भारत में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण तेजी से किया जा रहा है और 8 करोड़ से अधिक लोगों को अभी तक ये वैक्सीन दी जा चुकी है। एक व्यक्ति को कोरोना की दो वैक्सीन दी जा रही है। इन दोनों डोज को लेने के बीच कम से कम 28 दिनों का अंतर है। इसी बीच ऐसे कई मामले सामने आ रहे हैं। जिसमें उन लोगों को भी कोरोना वायरस हो रहा है। जो कि पहली डोज ले चुके हैं। पहली डोज लेने के बाद कोरोना वायरस अगर हो जाए। तो ऐसी स्थिति में क्या कोरोना की दूसरी वैक्सीन लेनी चाहिए की नहीं? ये सवाल कई लोगों के मनों में उठा रहा है।

कोरोना वैक्सीन लेने से जुड़े कई तरह से सवालों के जवाब चंडीगढ़ स्थित सरकारी मेडिकल कॉलेज की प्रोफेसर डॉ. जसविंदर कौर से पूछे गए। कोरोना की वैक्सीन के बारे में इन्होंने बताया कि वैक्सीन की दूसरी डोज के लिए जिसने कोविशील्ड लगवाई है, उसे चार के बजाय छह हफ्तों बाद दूसरी डोज लेनी चाहिए। पहले ये चार हफ्ते यानी 28 दिन का चक्र था। लेकिन कोवैक्सीन के लिए 28 दिन तक का अंतराल रखा गया है।

इन्होंने आगे कहा कि कोरोना की ये जो दूसरी लहर है, काफी खतरनाक है। इस बार जो भी संक्रमित हो रहे हैं, उनके फेफड़े बहुत जल्दी प्रभावित हो रहे हैं। मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है।

डॉ. जसविंदर कौर के अनुसार दोनों ही कोरोना वैक्सीन की प्रभावकारिता करीब 100 प्रतिशत है। जहां तक अच्छी वैक्सीन की बात है, जो भी रिसर्च होती हैं वो अलग-अलग विषयों पर होती हैं। किसी में कोविशील्ड अच्छी पाई जाती है तो किसी में कोवैक्सीन। लेकिन ये साफ है कि दोनों ही वैक्सीन में वायरस के खिलाफ एंटीबॉडी बन जाती हैं। वैक्सीन लेने के बाद मास्क, सुरक्षित दूरी और हाथ की सफाई करना भी जरूरी है। अगर ऐसा नहीं करेंगे तो कोरोना वायरस के संक्रमण की संभावना बनी रह सकती है।

जब इनसे पूछा गया कि पहली डोज लेने के बाद अगर कोरोना हो जाए तो क्या करना चाहिए। तो इसपर इन्होंने कहा कि पहली डोज के बाद अगर कोरोना हो गया है तो पहले इसे सही होने दें। जब रिपोर्ट निगेटिव आए तो डॉक्टर से परामर्श के बाद दूसरी डोज ले सकते हैं।

इन्होंने लोगों को कोरोना से सावधान रहने की सलाह भी दी है। इनके अनुसार महाराष्ट्र में केस काफी ज्यादा बढ़ गए हैं, साथ ही कई बड़ी हस्तियों को भी कोरोना हो गया है। ऐसे में कोरोना को गंभीरता से लें। सामजिक दूरी का पालन करें और मास्क जरूर पहनें। किसी भी भीड़ वाली जगह पर न जाएं।

गौरतलब है कि देश में कोरोना की आई दूसरी लहर ने काफी चिंता बढ़ा दी है। 24 घंटे के अंदर देश में 1 लाख से अधिक कोरोना के केस सामने आए हैं और आने वाला समय और खतरनाक होने वाला है। ऐसे में ये बेहद ही जरूरी है कि लोग अपना ध्यान रखें और घर में ही रहें।

Show More
Back to top button