समाचार

साधु की झोपड़ी में पुलिस को मिला खजाना, पैसे गिनते हुए थक गए पुलिस के हाथ

उत्तर प्रदेश में रहने वाले एक साधु की झोपड़ी की जब तलाशी की गई तो पुलिस दंग रहे गई। किसी ने कल्पना नहीं की थी कि साधु के घर से उन्हें इतने पैसे मिलेंगे। दरअसल जिस साधु के घर की तलाशी की गई उसकी मौत एक साल पहले हो गई थी। साधु की मौत के एक साल बाद पुलिस ने उसकी झोपड़ी को खोला और उसके अंदर रखे सामान की तलाशी ली। इस दौरान पुलिस के हाथ चार बक्से लगे। जो की पैसों से भरे हुए थे। पुलिस ने इन बक्सों को खोला और इसके अंदर भरे सिक्के व नोटों को निकालकर गिनना शुरू किया। ये पैसे गिनने में पुलिस को घंटों का समय लग गया।

पुलिस के अनुसार ये मामला मऊ जिले के शहर कोतवाली क्षेत्र के सोनीधापा मैदान का है। यहां पर रहने वाले एक साधू की एक वर्ष पहले मौत हो गई थी। रविवार को सिटी मजिस्ट्रेट जेएन सचान और एसओ कोतवाली डीके श्रीवास्तव के नेतृत्व में पुलिस ने साधू के घर को खोला और वहां पर रखे सामानों की जांच की। इस दौरान चार बक्सों में बड़ी संख्या में नोट थे।

इन बक्सों को लेकर पुलिस कोतवाली पहुंची, जहां पर इन्हें खोला गया। इसके बाद पैसों की गिनती शुरू कराई गई। गिनती करने में कई समय लग गया और पुरी गिनती होने पर कुल राशि 1 लाख 56 हजार 325 रुपये निकली। सिटी मजिस्ट्रेट ने इस मामले की जानकारी देते हुए कहा कि सोनीधापा के पास फुटपाथ के पास झोपड़ी में बृंदा नामक एक साधू रहता था। पिछले वर्ष उसकी मौत हो गई थी। रविवार को मृतक साधू का भांजा और एक साधू के पहुंचने पर पुलिस की देखरेख में उसकी झोपड़ी को खोला गया। बक्से को खोलकर जांच की गई जिसमें सिक्के और बड़े और छोटे नोटों के रूप में नकद राशि मिली है। झोपड़ी में मिली राशि फिलहाल पुलिस के कब्जे में है। पुलिस के अनुसार राशि किसी समाज सेवी संस्थान या किसी परिवार के सदस्य को दी जाएगी। ये तय करना है।

Back to top button
?>