राजनीति

भाजपा के इस सांसद का हुआ कोरोना से निधन, पीएम मोदी ने जताया शौक, कहा उनके योगदान को नहीं..

मध्यप्रदेश से BJP के लिए एक बेहद ही बुरी खबर आ रही हैं. यहाँ के भाजपा के सांसद नंद कुमार सिंह चौहान का मंगलवार को कोरोना से निधन हो गया हैं. वह काफी दिनों से कोरोना से संक्रमित थे. कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उन्हें 5 फरवरी को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इसी अस्पताल में उन्होंने इलाज़ के दौरान दम तोड़ दिया. डॉक्टर्स के मुताबिक कोरोना उनके फेफड़ों तक चला गया था. बाद में उनकी रिपोर्ट नेगेटिव भी आई. लेकिन हालत में कोई सुधार देखने को नहीं मिला.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अलावा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मध्य प्रदेश कैबिनेट के मंत्रियों ने सांसद के निधन पर शोक व्यक्त किया है. एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने उनके निधन को प्रदेश और बीजेपी के लिए बड़ी क्षति कहा है.

पीमा नरेंद्र मोदी ने दुःख प्रकट करते हुए लिखा कि, ‘खंडवा से लोकसभा सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान जी के निधन से दुखी हूँ. उन्हें मध्य प्रदेश में भाजपा को मजबूत करने के लिए संसदीय कार्यवाही, संगठनात्मक कौशल और प्रयासों में उनके योगदान के लिए याद किया जाएगा. उनके परिवार के प्रति संवेदना. शांति.’


बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने ट्वीट कर नन्दकिशोर चौहान को श्रद्धांजलि अर्पित की है. उन्होंने लिखा, ‘मध्यप्रदेश के पूर्व अध्यक्ष और खंडवा से सांसद श्री नंद कुमार चौहान जी के निधन की खबर से मन व्यथित है. नंदकुमार जी का संपूर्ण जीवन प्रदेश, समाज व संगठन की सेवा के प्रति समर्पित रहा. ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना एवं उनके परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूँ.ॐ शांति.’


सीएम शिवराज ने भी उन्हें याद करते हुए कहा, ‘आदरणीय नंदू भैया लोकप्रिय जननेता, कुशल संगठक, सफल प्रशासक थे. जनता दिलोजान से उन्हें प्यार करती थी. हमने प्रयास बहुत किये, लेकिन हम उन्हें बचा नहीं सके. आज उनका पार्थिव शरीर पहले हम भोपाल लायेंगे और बाद में उनके गांव शाहपुर ले जाया जायेगा, जहां उनका अंतिम संस्कार होगा. वहीं प्रदेश के शहरी विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि, ‘नंदू भैया का पार्टी के विस्तार में बड़ा योगदान रहा है. उनके साथ काम करते हुए उनके सहज व्यवहार का आभास होता था. पार्टी को उन जैसे वरिष्ठ नेता की कमी हमेशा खलेगी.’

नंद कुमार सिंह चौहान BJP की ओर से 6 बार लोकसभा पहुंच चुके हैं. इसके अलावा 1985 से लेकर 1996 तक वह मध्यप्रदेश विधानसभा के सदस्य भी रहे हैं. नंदकुमार सिंह चौहान की गिनती मध्य प्रदेश के बड़े नेताओं में होती थी.

1998 के उपचुनाव में नंदकुमार चौहान खंडवा से दूसरी बार विजयी हुए, लेकिन यह कार्यकाल 1998-99 तक ही रहा. इसके बाद वह लगातार 1999 में लोक सभा उपचुनाव में तीसरी बार जीते. 2004 के चुनाव में भी वह जीते. 2009 में उन्हें अरुण यादव ने हराया. लेकिन उन्होंने 2014 और 2019 में वापसी करते हुए लगातार जीत दर्ज की.

Back to top button