राजनीति

ब्रिटेन में वीजा नियमों का उल्लंघन, 38 भारतीय हिरासत में, दो कंपनियों पर जुर्माना, जानें क्यों?

अवैध रूप से ब्रिटेन में रहकर काम करने के आरोप में ब्रिटेन के इमीग्रेशन अधिकारियों ने 38 भारतियों को हिरासत में ले लिया है. इन लोगों पर वीजा अवधि खत्म होने के बाद भी ब्रिटेन में रहने का आरोप है जबकि कुछ लोगों पर बिना वीजा ब्रिटेन में घुसने का आरोप भी है वहीं एक व्यक्ति पर वीजा नियमों के उल्लंघन का भी आरोप है.

कपड़ा कारखानों में छापेमारी :

ब्रिटेन के लेस्टर शहर में इमीग्रेशन अधिकारियों ने दो कपड़ा कारखानों में छापेमारी की. जिसके दौरान 38 भारतीय नागरिक और एक अफगान नागरिक गिरफ्तार किया गया. इनमें 9 भारतीय महिलाएं भी शामिल हैं. इन पर आरोप है कि यह वीजा की अवधि समाप्त होने के बाद भी वहां रह रहे थे और अवैध रूप से काम कर रहे थे. इमीग्रेशन अधिकारियों ने एमके क्लोदिंग लिमिटेड और फैशन टाइम्स यूके लिमिटेड पर छापेमारी की.

वीजा नियमों का उल्लंघन :

इन सभी लोगों से काम कराने के आरोप में इनके नियोक्ता संगठनों को प्रति व्यक्ति 20 हजार पाउंड जुर्माना भी भरना होगा. स्थानीय न्यूज लेस्टर मर्करी की रिपोर्ट के अनुसार पकड़े गए 38 लोगों में से 31 लोगों के वीजा की अवधी समाप्त हो चुकी है. ये अपनी अवधि से अधिक समय तक ब्रिटेन में रह चुके हैं. जबकि 7 लोग ऐसे हैं जो अवैध तरीके से ब्रिटेन में घुसे हैं. उनके ब्रिटेन में होने के कोई अधिकारिक दस्तावेज उपलब्ध नहीं हैं. जबकि एक व्यक्ति पर वीजा शर्तों का उल्लंघन करके वहां रहने का आरोप है.

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हिरासत में लिए गए सभी लोगों में से 19 लोग ऐसे हैं जिन्हें ब्रिटेन से बाहर निकाला जाना है, जबकि 20 लोग ऐसे हैं जिनपर केस चलेगा और उन्हें नियमित रूप से गृह कार्यालय में रिपोर्ट करने का निर्देश दिया गया है. गृह कार्यालय ही इस मामले की पूरी पड़ताल कर रहा है. ऐसे में अगर जांच के बाद इनकी नियोक्ता कंपनियां दोषी पायी जाती हैं यानी कि अगर ऐसा पाया गया कि उन्होंने कर्मचारियों को कानूनी दर्जा देने के लिए कदम नहीं उठाया तो दोनों कंपनियों को 20 हजार पाउंड प्रति कर्मचारी के हिसाब से जुर्माना भी भरना होगा.

Back to top button