अध्यात्म

22 मार्च से शुरू हो रही है होलाष्टक, कर दें ये आसान उपाय धन, संपत्ति से भर जाएगा घर

हिंदू पंचांग के अनुसार फाल्गुन शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि से होलाष्टक शुरू हो जाती है। हर वर्ष होली पर्व से आठ दिन पहले होलाष्टक आती है। इस साल होलाष्टक 22 मार्च से 28 मार्च तक रहेंगी। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार होलाष्टक के दौरान शुभ कार्य नहीं करने चाहिए। इस दौरान किए गए शुभ कार्य सफल नहीं होते हैं और उनका पुण्य नहीं मिलता है।

मान्यता के अनुसार होलाष्टक के आठ दिनों शादी, विवाह, वाहन खरीदना या घर खरीदना एवं अन्य मंगल कार्य नहीं किए जाते हैं। इसलिए आप किसी भी प्रकार का शुभ कार्य इस दौरान न करे। वहीं लाल किताब में होलाष्टक से जुड़े कुछ टोटके बताए गए हैं। जिनको करने से भाग्य खोल जाता है और कई सारी परेशानियां खत्म हो जाती हैं।

संतान प्राप्ति के लिए करें यह उपाय

संतान प्राप्ति हेतु आप होलाष्टक के दिन ये उपाय करें। इस उपाय के तहत इस दिन गोपाल की विधि विधान से पूजा करें। पूजा करते हुए उन्हे माखन का भोग लगाएं और गाय के घी का दीपक जलाएं। ये उपाय करने से संतान प्राप्ति हो जाएगी।

करियर के लिए

जिन लोगों का करियर कामयाब नहीं हैं वो लोग इस उपाय को करें। होलाष्टक के दिन जौ, तिल और शक्कर से हवन करें। ऐसा करने से कार्य सफल होने में जो बाधाएं आ रही हैं वो दूर हो जाएगी और करियर कामयाब बन जाएगा।

धन-संपत्ति

धन-सपंत्ति के लिए होलाष्टक के दौरान कनेर के फूल, गांठ वाली हल्दी, पीली सरसों और गुड़ से हवन करें। ये उपाय करने से जीवन में धन की कमी कभी नहीं होगी। इस उपाय के अलावा आप एक हल्दी की गांठ तोड़कर घर ले आएं। इसे अपने घर की तिजोरी में साफ करके रख दें। ये उपाय करने से तिजोरी सदा पैसों से भरे रहेगी।

सेहत के लिए

जिन लोगों की सेहत अक्सर खराब रहती है या जो लोग रोग से ग्रस्त हैं, वो लोग होलाष्टक के दौरान महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें। जाप करने के बाद हवन करें और हवन करते समय गुग्गल का प्रयोग जरूर करें। ये उपाय करने से असाध्य रोग से मुक्ति मिल जाएगी और सेहत सही हो जाएगी।

दूसरे उपाय के तहत होलिका दहन से एक दिन पहले सरसों के तेल से पूरे शरीर की मसाज करें। उसके बाद शरीर से निकलने वाली मैल को होलिकाग्नि में डाल दें। माना जाता है कि इस उपाय को करने से रोग दूर हो जाता है।  तीसरे उपाय के तहत लाल रंग के धागे से शरीर को नाप लें और धागे को अग्नि में अर्पित कर दें। ये तीनों उपाय बेहद ही कारगर साबित होते हैं और इन्हें करने से रोग सही हो जाता है।

सुखी जीवन

सुखी जीवन के लिए आप होलाष्टक के दिन हनुमान चालीसा और विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें। ये पाठ करना बेहद ही लाभकारी साबित होते है और जीवन के दुखों का अंत हो जाता है। साथ में ही जो परेशानियां जीवन में होती हैं वो भी दूर हो जाती है।

नकारात्मक शक्तियां हो दूर

होलिका दहन की राख घर ले आएं। फिर इस राख को अपने घर के चारों ओर दरवाजे पर छिड़क दें। ये उपाय करने से घर में मौजूद नकारात्मक शक्तियां दूर हो जाती हैं और घर में सकारात्मकता बन जाएगी।

शीघ्र विवाह के लिए

जिन लोगों का विवाह नहीं हो रहा है वो लोग ये उपाय करके देखें। इस उपाय के तहत होली के दिन सुबह एक साबुत पान के पत्ते पर साबुत सुपारी तथा हल्दी की गांठ रखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं और बिना पीछे मुड़कर घर वापस लौट आएं। ये उपाय करने से जल्द ही विवाह हो जाएगा और विवाह होने में जो परेशानियां आ रही हैं वो दूर हो जाएंगी।

बांधाएं दूर करने के लिए

जीवन की किसी भी बाधा को दूर करने के लिए आप इस उपाय को करें। गाय के गोबर में जौ, अरसी और कुश मिलाकर छोटा उपला बना कर सुखा लें। इसे घर के मेन गेट पर लगा दें। ऐसा करने से घर में रहने वाले सभी लोगों की समस्याएं दूर जाएंगी और जीवन में शांति बनीं रहेगी।

Back to top button