राजनीति

8 चरणों में बंगाल चुनाव होने से घबराई ममता बनर्जी, हार के हताशा में भाजपा के लिए कही यह बड़ी बात

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों (West Bengal assembly elections) का ऐलान हो चुका है. यहाँ का चुनावी रण अपने जोरों शोरों पर है. सभी पार्टियां इस चुनावी दंगल में हर तरह का दांव-पेज अपना रही है. यहाँ BJP और ममता की TMC के बीच जोरदार मुकाबला होने वाला है. दोनों ही पार्टियां साम-दाम-दंड-भेद की नीतिया अपना रही है. यह चुनाव बेहद ही दिलचस्प बनता जा रहा है.

आपको बता दें यहाँ राज्य की 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए पहली बार आठ चरणों में चुनाव किये जा रहे है. इसके साथ ही यहाँ के कई जिलों में 2-3 चरणों में चुनाव होने वाले है. चुनाव आयोग के इसी फैसले पर बंगाल सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee)ने सवाल उठाये हैं. इस पर सीएम ममता ने कहा कि ये सब तरीके काम नहीं आएंगे, बंगाल में बंगाली का ही राज़ चलेगा, हम इस चुनाव में बीजेपी को हराकर ही रहेंगे.

ममता ने चुनाव आयोग पर लगाया गंभीर आरोप
ममता ने कहा, ‘बीजेपी ने चुनाव आयोग (Election commission) का इस्तेमाल अपना फायदें के लिए किया है. भाजप पूरे देश को बांट रही है और यही काम वह पश्चिम बंगाल में भी करने जा रही है. गृह मंत्री और पीएम मोदी अपनी ताकत का गलत इस्तेमाल न करें. आखिर बंगाल में 8 चरणों में चुनाव क्यों कराए जा रहे हैं? जो बीजेपी कह रही है, वही चुनाव आयोग कर रहा है. एक जिले में दो से तीन चरणों में चुनाव क्यों किये जा रहे है?’

ममता ने कहा चुनाव आयोग इलेक्शन में पैसे के इस्तेमाल पर रोक लगाए
सीएम ममता ने कहा कि केंद्र अपनी मिली हुई पावर का गलत तरीके से इस्तेमाल नहीं कर सकता. अगर केंद्र सरकार इस तरह से अपनी ताकतों का इस्तेमाल चुनाव में करेगा तो यह एक बड़ी भूल साबित होगा. इसका परिणाम भी उन्हें भुगतना पड़ेगा. हम आम लोग हैं और अपनी लड़ाई लड़ेंगे. मैं चुनाव आयोग से अपील करती हूं कि वह चुनाव के दौरान पैसे के दुरुपयोग पर रोक लगाए. बीजेपी ने एजेंसियों के जरिए जिलों में पैसे भिजवाए हैं.

बीजेपी के मुताबिक हिंसा को रोकने के लिए ये कदम उठाया गया है
बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धन राठौर ने एक निजी चैनल को इंटरव्यू के दौरान कहा, ‘सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इतने चरणों में चुनाव कराया जा रहा है. जहां तक मेरा मानना है, यह राज्य में इतिहास का अब तक का सबसे हिंसक चुनाव होने वाला है. केंद्र सरकार की योजनाओं पर मतदान पूर्ण होने दीजिये. जनता तय करेगी वह किसे सत्ता में देखना चाहती है.’

CPI ने भी बीजेपी की रणनीति पर सवाल किये है
सीपीआई नेता दिनेश वार्ष्णेय ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘राज्य में त्रिकोणीय मुकाबला होने वाला है. बीजेपी 8 चरणों में इसीलिए चुनाव करा रही है ताकि ध्रुवीकरण किया जा सके. एक जगह की चुनावी रैली का अगले चरण में उपयोग किया जा सके, इसीलिए ऐसा किया जा रहा है.’

बंगाल में चुनाव और मतगणना का दिन
बंगाल में इस बार विधानसभा चुनाव 8 चरणों में संपन्न होंगे. पहले चरण की अधिसूचना 2 मार्च को जारी की जायेगी, 27 मार्च को पहले चरण में 30 सीटों पर मतदान होगा. ज्ञात हो कि 2016 में राज्य में 77,414 पोलिंग बूथ थे. इस साल पोलिंग बूथों में 31.65% की बढ़ोतरी हुई है और इस बार 1,01,916 पोलिंग बूथों पर वोट डलेंगे. राज्य में वोटों की गिनती 2 मई को होगी.

Back to top button