राजनीति

जीएसटी के विरोध में भारत बंद से पहले ही व्यापारियों में फूट, जानें कहा-कहा देखने को मिलेगा असर

वस्तु व सेवा कर (GST) के अंदर कुछ जरुरी बदलाव करने को लेकर 26 फरवरी 2021 मतलब आज देशभर के व्यापारियों ने भारत बंद (Bharat Bandh 2021) बुलाया है. इसके साथ ही ऑल इंडिया ट्रांसपोटर्स वेलफेयर एसोसिएशन (AITWA) ने कैट का समर्थन कर आज ही चक्का जाम करने की घोषणा भी की है. इसी वजह से आज सभी व्यावसायिक बाजार बंद रहने वाले है.

खबर के मुताबिक दावा किया जा रहा है कि इसमें 8 करोड़ छोटे कारोबारी, करीब 1 करोड़ ट्रांसपोर्टर, लघु उद्योग और महिला उद्यमी भी सम्मिलित होंगे. हालांकि, इस बीच खबर आ रही है कि भारत बंद शुरू होने से पहले ही व्यापारियों की एकता टूट में फूट पद गई है. इस बारे में फेडरेशन ऑफ आल इंडिया व्यापार मंडल (FAIM) ने इस बंद से एक दिन पहले ही कहा कि वह कैट के भारत बंद से अलग है. फैम का कहना है कि व्‍यापार मंडल दुकान बंद या भारत बंद जैसी विचारधारा का समर्थन नहीं करता है.

इसके साथ ही फेडरेशन ऑफ आल इंडिया व्यापार मंडल ने कहा कि हम भारत बंद से दूर है लेकिन जीएसटी में सुधार की काफी जरुरत है. उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना महामारी के दौर में अर्थव्यवस्था नाजुक हालात में है. ऐसे में जिम्मेदार नागरिक के नाते व्यापारियों को फिलहाल आंदोलन से दूर ही रहना चाहिए. उनके मुताबिक इसका रास्ता बातचीत से भी निकाला जा सकता है.

इस मामले में फैम ने बताया कि उसने 22 फरवरी 2021 को 200 जिलाधिकारियों के जरिये देश के पीएम नरेंद्र मोदी को जीएसटी में सुधार का आग्रह किया है. कैट के मुताबिक उसके बंद के दौरान देशभर में 1500 जगहों पर धरना दिया जाएगा. उनेक मुतबिक देश भर के सभी बाज़ार बंद रहने वाले है और प्रदर्शन होने वाले है. सभी राज्य स्तरीय-परिवहन संघों ने भी GST के विरोध में कैट का समर्थन किया है.

आपको बता दें कि इस दौरान पूरी तरह से ट्रांसपोर्ट कार्यालयों को बंद रखने का एलान भी किया गया है. इस दौरान किसी भी प्रकार की डिलिवरी, माल की बुकिंग, लदाई/उतराई बंद रहने वाली है. इसके साथ ही सभी परिवहन कंपनियों को विरोध में शामिल होने के लिए सुबह 6 से शाम 8 बजे के बीच अपने वाहन पार्क करने को कहा गया है. इसके साथ ही देश के ट्रांसपोर्ट सेक्टर के अलावा बड़ी संख्या में व्यापारिक संगठनों ने भी व्यापार बंद का समर्थन किया है.

यह व्यापारिक संगठन शामिल होंगे
इस बंद में ऑल इंडिया एफएमसीजी डिस्ट्रिब्यूटर्स फेडरेशन, ऑल इंडिया कंप्‍यूटर डीलर एसोसिएशन, नॉर्थ इंडिया स्पाईसिस ट्रेडर्स एसोसिएशन, फेडेरेशन ऑफ एल्‍युमिनियम यूटेंसिल्‍स मैन्यूफैक्चरर्स एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन,ऑल इंडिया वूमेंन एंटेरप्रैन्‍योर्स एसोसिएशन, ऑल इंडिया कॉस्मेटिक मैन्यूफैक्चरर्स एसोसिएशन शामिल हैं. इसके साथ ही किसान बिल का विरोध कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ने भी भारत बंध को सर्मथन दिया है. इनके अलावा आज चार्टर्ड अकाउंटेंट्स एसोसिएशन और टैक्स एडवोकेट्स के ऑफिस भी बंद रहने वाले है.

Back to top button