VIP शादी में शामिल हुए 700 से ज्यादा लोग, कई महाराष्ट्र के नेताओं ने तोड़े कोरोना के नियम..

महाराष्ट्र में एक बार फिर से कोरोना के केसों में उछाल आया है, जिसके कारण राज्य सरकार ने कई जगहों पर लॉकडाउन लगाने का ऐलान कर दिया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सोमवार से राज्य के सभी राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक जमावड़े पर रोक लगाने का फैसला भी किया है। साथ में ही लोगों को ये चेतावनी भी दी है कि अगर उनके द्वारा इन नियमों का पालन नहीं किया जाता है। तो सरकार पूरे राज्य में ही दोबारा से लॉकडाउन लगा देगी। हालांकि ये नियम नेताओं के लिए लागू होते हुए नहीं दिख रहे हैं।

दरअसल रविवार को बीजेपी के पूर्व सांसद धनंजय महादिक के घर एक कार्यक्रम था। जिसमें कई सारे नेता शामिल हुए थे और ये सभी नेता कोरोना के नियमों का उल्लंघन करते हुए पाए गए। धनंजय महादिक ने अपने बेटे की शादी के अवसर पर तय सीमा से ज्यादा मेहमानों को बुलाया था। राज्य सरकार द्वारा शादी समारोह में 200 से ज्यादा मेहमानों के आने पर पाबंदी लगा रखी है। लेकिन इन्होंने शादी में 700 से ज्यादा मेहमानों को बुलाया था।

पुणे में रखे गए इस शादी समारोह में शिवसेना पार्टी के नेता संजय राउत और अरविंद सावंत भी शामिल हुए थे और ये दोनों नेता कोरोना के नियमों का उल्लघंन करते हुए पाए गए थे। इसके अलावा शादी में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बिना मास्क के पहुंचे थे। ये पहला ऐसा मौका नहीं है जब कोरोना के नियमों की धज्जियां उड़ाई गई हों। इससे पहले NCP के एक नेता के घर में भी शादी थी और उस दौरान भी कई नियमों को अनदेखा किया गया था।

गौरतलब है कि कुछ दिनों से महाराष्ट्र में कोरोना के केसों में रफ्तार आई है। कई दिनों से राज्य में रोजाना 6 हजार से अधिक केस आ रहे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक जमावड़े पर रोक लगाने का ऐलान किया है। साथ में ही इन्होंने अपने पार्टी के नेताओं से भी कहा है कि उनके ओर से रखे गए कार्यक्रम को रद्द कर दिया जाए। जिसके बाद सुप्रिया सुले और उदय सावंत ने जनता के साथ होने वाले अपने-अपने कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है। ठाकरे ने टेलीविजन पर अपने संबोधन में कहा है कि राजनीतिक कार्यक्रमों को अगले कुछ दिनों के लिए अनुमति नहीं दी जाएगी।