कभी IPL में था इस देश के खिलाड़ियों का दबदबा, आज एक भी खिलाड़ी मैदान में खेलते नज़र नहीं आएगा

भारत का सबसे बड़ा खेल क्रिकेट और क्रिकेट का सबसे बड़ा फॉर्मेट आईपीएल. आईपीएल में इस साल एक बार फिर खिलाड़ियों की नीलामी हुई थी. इस बार फिर कई खिलाड़ियों पर पैसों की बारिश हुई. कई ऐसे भी खिलाड़ी थे जिन्हे उम्मीद से ज्यादा पैसा भी दिया गया. इनके साथ ही कुछ ऐसे भी खिलाड़ी थे जो बड़ी आस लगाए हुए थे.लेकिन उन्हें किसी तरह का कोई खरीददार नहीं मिला.

इस बार ऑक्शन में सबसे बुरा हाल रहा श्रीलंका के खिलाड़ियों का. एक समय श्रीलंका क्रिकेट (Sri Lanka Cricket) का दुनिया में राज हुआ करता था. आज वह श्रीलंका टीम इस तरह से निराश करेगी किसी ने सोचा तक नहीं होगा. 2007 और 2011 के विश्वकप में लगातार फाइनल में अपनी जगह बनाने वाली श्रीलंका (Sri Lanka) टीम आज अपने घरेलु मैंदानों पर भी मैच हार रही है. श्रीलंका टीम की रैंकिंग भी इस समय ज्यादा अच्छी नहीं है, श्रीलंका टेस्ट और टी-20 में 7वें पायदान पर है जबकि वनडे में 8 वें स्थान पर काबिज है.

गौरतलब है कि दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग आईपीएल में श्रीलंका के 3 खिलाड़ी 3 अलग-अलग टीमों के कप्तान भी रह चुके है. अब ये समय आ गया है कि कोई भी लंकाई खिलाड़ी आईपीएल में बिक तक नहीं रहा है. कोई भी टीम श्रीलंका के खिलाड़ियों में इंट्रेस्ट नहीं दिखा रही है. वर्तमान में भी कई पूर्व श्रीलंका के खिलाड़ी आईपीएल टीमों के कोचिंग स्टाफ में हैं. इसके बाद भी IPL के 14 संस्करण में एक भी श्रीलंकाई खिलाड़ी बिक नहीं सका.

इस दौरान सबसे हैरान करने वाली बात यह रही कि 14 साल के आईपीएल के इतिहास में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की नीलामी में किसी भी फ्रैंचाइजी ने श्रीलंकाई क्रिकेटरों का नाम तक नहीं लिया. जबकि IPL के कई सीजन ऐसे रहे है जिसमे श्रीलंका के ही खिलाड़ियों का दबदबा रहा है. अगर बात की जाए पहले कि तो श्रीलंका के इन खिलाड़ियों आईपीएल तीन तीन टीमों का नेतृत्व किया है.


श्रीलंका के पूर्व खिलाड़ी एंजेलो मैथ्यूज ने पुणे वारियर्स इंडिया, मुंबई इंडियंस के कोच महेला जयवर्धने ने कोच्चि और कुमारा संगाकारा( Kumar Sangakkara) ने हैदराबाद की एक ही सीजन में कप्तानी संभाली थी. इसके अलावा लसिथ मलिंगा, तिलकरत्ने दिलशान, मुथैया मुरलीधरन जैसे खिलाड़ियों का आईपीएल में जमकर बोल बाला रहा है. लसिथ मलिंगा आईपीएल में श्रीलंका का सब फेमस और सफल चेहरा रहे है.

लसिथ मलिंगा मुंबई की तरफ से खेलते थे. मलिंगा ने कई बार आईपीएल में पर्पल कैप भी हासिल की थी. कुमार संगाकारा कई सालों तक पंजाब और हैदराबाद के कप्तान रहे चुके है. इन दोनों के अलावा मैथ्यूज और जयवर्धने भी कई सालों तक आईपएल फ्रेंचाइजी की पसंद में शुमार रहे है. श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगाकारा इस समय राज़ कुंद्रा की टीम राजस्थान रॉयल्स के डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट हैं.

पूर्व श्रीलंका टीम के कप्तान महेला जयवर्धने मुंबई के बैटिंग कोच हैं. उनके अलावा महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन सनराइजर्स हैदराबाद के बॉलिंग कोच बने हुए हैं. इन लोगों ने भी श्रीलंका के क्रिकेटर्स को इतनी महत्वता नहीं दी. श्रीलंका क्रिकेट की इस हालत के लिए कुमारा संगाकारा ने बोर्ड को जिम्मेदार ठहराया है.