राजनीति

दिशा रवि की गिरफ्तारी पर बोले अमित शाह, क्या अपराधी की भी उम्र, पेशा देखें

टूलकिट मामले में गृह मंत्री अमित शाह की पहली बार प्रतिक्रिया आई है और इस मामले में अमित शाह ने दिल्ली पुलिस का बचाव किया है। केंद्रीय गृह मंत्री ने इस मामले में कहा है कि मैं इस मामले की मेरिट पर नहीं जाना चाहता हूं। पुलिस अपने हिसाब से काम कर रही है, अगर कोई व्यक्ति अपराध कर रहा है, तो क्या उसकी उम्र या पेशा पूछना चाहिए? अमित शाह ने कहा कि ऐसा करना बिल्कुल गलत है। दिल्ली पुलिस पूरी जिम्मेदारी के साथ प्रोफेशनल तरीके से काम कर रही है। गृह मंत्री ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति बड़ा गुनाह कर देता है तो क्या ये कहा जाएगा कि किसान, प्रोफेसर और नेताओं पर मामला दर्ज क्यों किया गया है?

अमित शाह ने कहा कि जेंडर, प्रोफेशन और उम्र के आधार पर अपराध दर्ज नहीं किया जाएगा। अगर कोई गलत एफआईआर दर्ज की गई है तो आप कोर्ट जा सकते हैं। 21 साल की उम्र के कई लोग हैं, लेकिन दिशा रवि को ही क्यों गिरफ्तार किया गया है? कानूनी मामलों पर सवाल खड़े करना आजकल एक फैशन बन गया है। अगर कोई संस्था पेशेवर तरीके से काम कर रही है तो उस पर सवाल नहीं उठाना चाहिए।

गौरतलब है कि टूलकिट मामले में दिल्ली पुलिस ने 21 साल की दिशा रवि को गिरफ्तार किया है। इस केस में दिशा की गिरफ्तारी पर ही गृह मंत्री अमित शाह का ये बयान आया है। वहीं दिशा रवि ने दिल्ली उच्च न्यायालय में एक याचिका दायक की थी। जिसपर आज गुरुवार को सुनवाई की गई थी। इस याचिका में दिशा ने दिल्ली उच्च न्यायालय से अनुरोध किया था कि पुलिस को उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी से जुड़ी जांच की कोई भी सामग्री मीडिया में लीक करने से रोका जाए।

दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को दिल्ली उच्च न्यायालय से कहा कि उसने किसानों के प्रदर्शन से जुड़ी टूलकिट साझा करने के मामले में गिरफ्तार दिशा रवि के मामले की जांच से जुड़ी कोई भी जानकारी मीडिया में लीक नहीं की है। पुलिस की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने न्यायमूर्ति प्रतिभा एम सिंह के समक्ष ये दलील दीं।

Back to top button
?>