अमेरिका का अहम रक्षा सलाहकार है भारत, आतंकवाद के खिलाफ दोनों देश प्रतिबद्ध!

मंगलवार को अमेरिका के नेशनल सिक्यूरिटी एडवाइजर यानी कि NSA लेफ्टिनेंट जनरल एचआर मैक्मास्टर भारत दौरे पर आये. उन्होंने पीएम मोदी और भारत में अपने समक्ष अजीत डोवाल से मुलाकात की. साथ ही उन्होंने विदेश सचिव एस जयशंकर से भी मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने आतंकवाद के प्रति अमेरिका की प्रतिबद्धता जताई. उन्होंने भारत को ट्रम्प प्रशासन का अहम रक्षा सलाहकार होने की बात दोहराई.

दोनों देशों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ने की अपनी प्रतिबद्धता जताई :

 

विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर बताया कि मैक्मास्टर ने पीएम मोदी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की तरफ से हार्दिक शुभकामनायें दीं. प्रधानमन्त्री ने भी कुछ समय पहले ट्रम्प से हुयी अपनी बातचीत का जिक्र किया और इसे एक सकारात्मक सहयोग बताया. इस बात से यह बिल्कुल स्पष्ट है कि दोनों ही राष्ट्र रणनीतिक साझेदारी को महत्व देते हैं.

बताया जा रहा है कि इस मुलाकात में दोनों देशों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ने की अपनी प्रतिबद्धता जताई. NSA मैक्मास्टर ने भारत और उसके करीबी राष्ट्रों की सुरक्षा स्थिति पर अमेरिका का नजरिया स्पष्ट किया. साथ ही दोनों ने अफगानिस्तान, पश्चिम एशिया और कोरिया पर भी चर्चा की. उन्होंने इस बात पर विचार किया कि आतंकवाद जैसी गंभीर समास्याओं और उसकी चुनौतियों से कैसे निपटा जाये.

गौरतलब है कि अमेरिका ने भी इन बैठकों को फायदेमंद बताया है. अमेरिकी दूतावास के मुताबिक यह मुलाकर सुरक्षा मामलों में बेहद लाभप्रद होगी. दूतावास के मुताबिक बैठक के दौरान दोनों पक्ष रक्षा और आतंकवाद के मुद्दे पर आपसे सहयोग बढ़ाने के पक्ष में दिखे. इससे पहले अमेरिकी NSA मैक्मास्टर ने काबुल और इस्लामाबाद का दौरा किया था.

अफगानिस्तान की मीडिया के मुताबिक एक अफगानी चैनल से बातचीत के दौरान मैक्मास्टर ने कहा था कि आतंकवाद और सुरक्षा जैसे मुद्दों पर पाकिस्तान को अफगानिस्तान और अन्य जगहों पर हिंसा के बजाय राजनयिक माध्यमों का इस्तेमाल करना चाहिए. उन्होंने पाकिस्तान के तौर तरीके पर भी अप्रत्यक्ष रूप से सवाल उठाये थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.