सीएम योगी ने चंद्रशेखर जयंती पर किया लोगों को संबोधित, कहा तीन तलाक करता है महिलाओं के अधिकारों का हनन!

उत्तर प्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रशेखर की जयंती के उपलक्ष्य में रखे गए पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में लोगों को संबोधित किया। उन्होंने इस संबोधन के दौरान कई महत्वपूर्ण बातें कहीं। उन्होंने अपने संबोधन में तीन तलाक पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि तीन तलाक मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों पर वार है। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान तीन तलाक पर बोलते हुए द्रौपदी के चीर हरण का भी जिक्र किया।

उन्होंने संबोधन के दौरान कुछ लोगों पर निशाना साधते हुए कहा कि इसपर कुछ लोग चुप्पी साधे हुए हैं। जब यह देश एक है, तो यहां कॉमन सिविल कोड क्यों नहीं लागू किया जाता है। देश के किसी भी कोने में चाहे वह जम्मू कश्मीर हो या पंजाब हो, कोई भी समस्या होने पर एक तरह के कानून का पालन किया जाना चाहिए। उन्होंने विपक्ष पर भी निशाना साधा और इसपर राजनीति करने वालों को भी आड़े हाथों लिया।

चाहते थे देश की तरक्की:

उन्होंने देश के पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के बारे में कहा कि वह देश की तरक्की चाहते थे। वह देश की परेशानियों को दूर करने के लिए हमेशा जूझते थे। वे समाजवादी होने के साथ-साथ अध्यात्मिक व्यक्ति भी थे। वे हमेशा सच बोलते थे, जो कभी-कभी लोगों को कड़वा भी लगता था। आपको बता दें नरेन्द्र मोदी ने भी गुजरात के अपने दौरे के समय तीन तलाक का जिक्र किया था।

जनता को जरूरत है जगाने की:

उन्होंने कहा कि इस कानून की वजह से मुस्लिम महिलाओं को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। केंद्र सरकार इसका हल ढूंढने का प्रयास कर रही है। ओडिशा दौरे के समय मोदी ने कहा था कि बीजेपी का तीन तलाक मामले पर एकदम स्पष्ट रूख है। मोदी ने कहा था कि जनता को अब जगाने की जरूरत है।

बिना वजह तलाक देने वाले का होगा सामाजिक बहिष्कार:

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने बिना किसी वजह किसी मुस्लिम महिला को तलाक देने वाले के सामाजिक बहिष्कार का निर्णय लिया है। बोर्ड ने कहा है कि वह इस मामले पर सरकार की मदद करने को तैयार है। केवल यही नहीं बोर्ड ने मुस्लिम समुदाय के बारे में कहा कि मुसलमानों को फिजूलखर्ची से बचना चाहिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.