राजनीति

मिस्र में कॉप्टिक चर्च में आतंकी हमला, 36 लोगों की मौत 140 लोग घायल!

आतंकी संगठन दिन प्रति दिन और हिंसक और खतरनाक होते जा रहे हैं, अब ये आतंकवादी यह भी नहीं देख रहे कि वह किसे और कहां निशाना बना रहे हैं. ऐसा लग रहा है कि ये आतंकी संगठन दुनिया भर में हर उस जगह को अशांत कर देना चाहते हैं जहां शांति और सद्भाव के साथ लोग सुकून की जिंदगी जी रहे हैं.

मिस्र (इजिप्ट) में दो जगह आतंकी हमले हुए :

रविवार को मिस्र (इजिप्ट) में दो जगह आतंकी हमले हुए इन हमलों में कुल 36 लोगों की मौत और करीब 140 लोगों के जख्मी होने की खबर है. हमले में मिस्र के अल्पसंख्यक समुदाय कॉप्टिक क्रिस्चियंस को निशाना बनाया गया. यह हमले दो अलग अलग शहरों में हुए.

सबसे पहले उत्तर काहिरा से करीब 120 किमी की दूरी पर स्थित नील डेल्टा शहर में एक चर्च में धमाका हुआ इस धमाके में 25 लोगों की मौत हो गयी जबकि 71 लोगों के घायल होने की खबर है. यह धमाका तब हुआ जब लोग ईस्टर से पहले पाम सन्डे की प्रार्थना के लिए चर्च में जुटे थे. एक मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि सुबह 10 बजे इस हमले को अंजाम दिया गया.

इस सम्बंध में अलग अलग मीडिया रिपोर्ट में अलग अलग जानकारी मिल रही है. कुछ के अनुसार पहले से ही किसी ने वहां पर विस्फोटक रखा था और कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक वहां मौजूद लोगों ने बताया कि एक शख्स ने इस हमले को अंजाम दिया ये हमला एक आत्मघाती हमला था. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक चर्च में आगे बैठे लोगों को निशाना बनाया गया.

दूसरा हमला अलेक्जेंडरिया में सेंट मार्क कॉप्टिक चर्च के बाहर हुआ. इसमें चर्च के बाहर एक धमाका हुआ जिसमें 11 लोग मारे गए. बताया जा रहा है कि इस हमले में 66 लोग बुरी तरह से जख्मी हैं. दोनों ही हमलों में कॉप्टिक क्रिस्चियन समुदाय के लोगों को निशाना बनाया गया है.

गौरतलब है कि कॉप्टिक क्रिश्चियंस एक विशेष प्रकार का समुदाय है जिसकी ज्यादातर जनसंख्या मिस्र में है, इस समुदाय के लोग सूडान और लीबिया में भी रहते हैं. इनको पश्चिम एशिया का सबसे बड़ा अल्पसंख्यक क्रिस्चियन समुदाय माना जाता है. मिस्र में ये 10 प्रतिशत हैं.

Back to top button