विशेष

तीर्थयात्रा के दौरान बेहोश हो गई थी 58 वर्षीय महिला, पुलिसवाले ने फिर जो किया वह मिसाल बन गया

देश के जवान और पुलिसकर्मी हमारे लिए बहुत कुछ करते हैं। अक्सर इनसे जुड़ी ऐसी चीजें सामने आती रहती हैं जिन्हें देख हमे इनके उपर गर्व होता है। अब आंध्र प्रदेश के तिरुमाला का यह मामला ही ले लीजिए। यहां एक 58 साल की महिला तीर्थ यात्रा के दौरान पहाड़ियों पर चलते हुए बेहोश हो गई थी। ऐसे में एक पुलिसकर्मी ने न सिर्फ महिला को अपनी पीठ पर उठाया बल्कि वह उसे लेकर 6 किलोमीटर दूर भी चला। उसके इस प्रयास से महिला को वक्त रहते मेडिकल हेल्प मिल सकी।

अब सोशल मीडिया पर इस जवान की खूब वाह वाही हो रही है। इस घटना के बारे में आंध्र प्रदेश पुलिस ने अपने ऑफिसियल ट्विटर हैंडल पर जानकारी दी। उन्होंने पुलिसकर्मी और महिला तीर्थयात्री की कुछ तस्वीरें शेयर की। इन फोटोज़ के साथ उन्होंने कैप्शन में लिखा – आंध्र प्रदेश पुलिस गर्व और दायित्व के साथ काम करती है। ऑन-ड्यूटी कांस्टेबल शेख अरशद ने 58 वर्षीय महिला तीर्थयात्री को बचाया जिसकी DGP ने तारीफ की।

ट्वीट में आगे लिखा गया – महिला तीर्थयत्री तिरुमाला की पहाड़ियों पर चलने के दौरान बेहोश होकर गिर गई ठी। उन्हें वक्त रहते मेडिकल हेल्प मिल सके इसलिए कांस्टेबल अरशद 6 महिला को अपनी पीठ पर लादकर 6 किलोमीटर तक चले। यह घटना इस बात का सबूत है कि वे अपने काम के प्रति कितने ईमानदार हैं।


आंध्र प्रदेश पुलिस के इस ट्वीट पर आम जनता की काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। इस पोस्ट को अब तक 443 लाइक्स और 75 रिट्वीट मिल चुके हैं। हर कोई कांस्टेबल अरशद के काम की तारीफ कर रहा है। लोगों का कहना है कि यदि सभी पुलिसवाले इतनी ईमानदारी से अपना काम करें तो ये दुनिया जन्नत बन जाएगी। चलिए देखें कि इस पोस्ट पर किसने कैसा कमेंट किया।


इसे कहते हैं इंसानियत। ये है असली भारत।


इस बहादुर पुलिसवाले को सलाम।


बहुत बढ़िया। भगवान आपका भला करे।


तालियां बजती रहनी चाहिए। ये पुलिसवाला सम्मान का हकदार है। इन्हें हमारा भी सलाम। वैसे इस पुलिसवाले के काम को देख आपको क्या कहना है?

Back to top button
?>