पाकिस्तान के खिलाफ अफगानिस्तान में भड़के लोग, जंग का एलान करने की मांग!

पाकिस्तान की नापाक हरकतों से उसके सभी पडोसी परेशान हैं. पूरा विश्व अब इस बात को जान चुका है कि पकिस्तान टेरर स्पॉन्सर करने वाला देश है यानी कि पाकिस्तान प्रायोजित रूप से आतंकवाद को बढ़ावा देता है. भारत समेत कई देश पाकिस्तान के स्टेट स्पॉन्सर आतंकवाद से परेशान हैं और विश्व समुदाय के बीच में पाकिस्तान को अलग थलग करने का पूरा प्रयास कर रहे हैं. इसी बीच एक और खबर आई है जो पाकिस्तान के लिए अच्छी नहीं है.

पाकिस्तान के पड़ोसी राष्ट्र अफगानिस्तान में नागरिकों ने पाकिस्तान के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया और राष्ट्रपति अशरफ गनी से पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध छेड़ने की मांग भी की. अफगानी नागरिकों द्वारा यह विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है. अफगानी लोग नंगरहार और कुनार क्षेत्र में पाकिस्तान की तरफ से हो रही गोलीबारी का विरोध कर रहे हैं.

नागरिकों ने की जंग के एलान की मांग :

अफगानी नागरिकों की मांग है की सरकार पाकिस्तान के खिलाफ जंग का एलान करे. गौरतलब है कि पाकिस्तानी आर्मी बलूचिस्तान और अन्य इलाकों में आतंकवाद पर कार्रवाई के नाम पर बेगुनाह मासूम नागरिकों को निशाना बना रही है और इस क्षेत्र में आये दिन मिसाइल हमले भी कर रही है. जिसका खामियाजा नागरिकों को उठाना पड़ रहा है.

आतंक को बढ़ावा देने वाला देश है पाकिस्तान :

अफगानिस्तान के लोगों ने जंग की मांग करते हुए कहा कि अगर सरकार जंग का एलान करती है तो अफगान तालिबान भी पाकिस्तानी आर्मी के खिलाफ जंग करेगा. इतना ही नहीं 21 फरवरी को अफगानिस्तान के हेलमंद प्रान्त की राजधानी में पाकिस्तान के खिलाफ नागरिकों ने खूब प्रदर्शन किया था. अफगानी नागरिक पाकिस्तान को आतंकवाद को बढ़ावा देने वाला देश बता रहे हैं और उसके खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

युवाओं को गुमराह कर रहा है पाक :

पाकिस्तान अफगानिस्तान के कई इलाकों में आईएसआई और मुस्लिम विद्वानों के जरिये छात्रों और युवाओं को धर्म के नाम पर लड़ने के लिए गुमराह कर रहा है और उकसा रहा है. वहीँ दूसरी तरफ पाकिस्तान और अफगानिस्तान की सीमा डूरंड लाइन पर पाकिस्तानी सेना की गतिविधियां भी बढ़ गयी हैं.

इस पूरे मामले पर अफगानिस्तान सिविल सोसाइटी के मेम्बर्स का कहना है कि हम अफगानिस्तान को पाकिस्तानी सेना और आतंकियों के हाथ में पड़ कर बर्बाद नहीं होने देना चाहते हैं. पाकिस्तान में केवल तालिबान ही नहीं कई आतंकी संगठन जमीनी रूप से सक्रिय हैं जिनमें लश्कर ए झांगवी, जैश ए मोहम्मद और हक्कानी नेटवर्क जैसे तमाम आतंकी संगठन शामिल हैं.

देखें वीडिओ-

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.