लखनऊ – यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने आज एक ऐतिहासिक कदम उठाते हुए किसानों की कर्जमाफी को मंजूरी दे दी है। गौरतलब है कि बीजेपी ने चुनाव जीतते ही यूपी में किसानों के कर्ज माफ करने का वादा किया था। विधानसभा चुनाव के दौरान किसानों के कर्ज माफ करने का वादा प्रधानमंत्री मोदी ने किया था। यूपी की योगी सरकार ने किसानों को अब तक का सबसे बड़ा तोहफा देते हुए अपने वादे के अनुसार पहली ही कैबिनेट बैठक में किसानों की ऋण माफी का फैसला किया। योगी सरकार ने किसानों का 1 लाख रुपए तक का कर्ज माफ करने की घोषणा की है। जिससे यूपी के करीब 2 करोड़ किसानों को फायदा होगा। waives off farmers loan.

 waives off farmers loan
किसानों का 36,000 करोड़ रुपए का कर्ज माफ –

पीएम मोदी ने वादा किया था कि कर्जमाफी का फैसला पहली कैबिनेट बैठक में ही लिया जाएगा। इसीलिए, योगी सरकार ने अभी तक पहली बैठक नहीं बुलाई थी। इससे पहले किसानों के कर्जमाफी को लेकर खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अफसरों के साथ बैठक कर चुके थे। अफसरों के अनुमानित आंकलन के अनुसार यूपी में किसानों पर कुल ऋण 93 हजार करोड़ रुपये है। जिनमें सीमांत और लघु सीमांत किसानों पर 62 हजार रुपये का ऋण है। जिसमें से योगी सरकार ने 36,000 करोड़ रुपए का कर्ज माफ कर दिया है।

2 करोड़ 30 लाख किसानों पर 62 हजार करोड़ रुपए का कर्ज –

भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र-2017 के वादों को पूरा करने के लिये योगी सरकार को काफी वित्तीय बोझ सहन करना पड़ेगा। इसलिए योगी सरकार के पास अपने चुनावी वादों को पूरा करने में आगे भी कई चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। आपको बता दें कि सूबे में दो करोड़ से ज्यादा लघु तथा सीमांत किसान हैं, जिन पर लगभग 62 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है। किसानों के लिए माफ की गई राशि का भुगतान राज्य सरकार द्वारा बैंकों को किया जाएगा। इसके लिए योगी सरकार केन्द्र से अतिरिक्त ऋण लेगी। सूबे में इस वक्त लगभग 2 करोड़ 30 लाख किसान हैं, जिनपर 62 हजार करोड़ रुपए का कर्ज है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.