समाचार

बिहार होगा कोरोना मुक्त, 500 बेड वाला कोरोना हॉस्पिटल बनाने के लिए पीएम केयर्स फंड दे रहा पैसा

भारत में कोरोना का कहर बरकरार है। इसने हमारी अर्थव्यवस्था पर भी तगड़ा प्रहार किया है। ऐसे में कई लोगों ने देश को कोरोना मुक्त बनाने के लिए पीएम केयर्स फंड ट्रस्ट में पैसे दान किए थे। अब पीएम केयर्स फंड ट्रस्ट (PM-CARES Fund Trust) डीआरडीओ के माध्यम से बिहार (Bihar) के पटना (Patna) और मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) में 500 बेड का कोविड-19 अस्थायी हॉस्पिटल बनाने के लिए पैसा देने जा रहा है। ट्रस्ट ने ये फैसला कोविड-19 (COVID-19) को खत्म करने के उद्देश्य से लिया है। ऐसा कर कोरोना मरीजों की हालत सुधारने और देश में कोविड-19 की स्थिति को बेहतर करने में सहायता मिलेगी।

बिहार में कोविड-19 हॉस्पिटल के लिए पैसा देगा पीएम केयर्स फंड

दरअसल  प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) द्वारा हाल ही में यह जानकारी दी गई है कि वे बिहार के पटना और मुजफ्फरपुर में 500 बेड वाले कोविड-19 हॉस्पिटल (COVID-19 hospital)  बनाएंगे। यह हॉस्पिटल अस्थायी होंगे और लंबे समय तक कोरोना को जड़ से मिटाने में अहम भूमिका निभाएंगे।


बता दें कि पटना के बिहटा में इस 500 बेड वाले हॉस्पिटल का उद्घाटन आज होगा। जबकि मुजफ्फरपुर में 500 बेड के इस हॉस्पिटल का उद्घाटन बाद में जल्द ही किया जाएगा।

ये सुविधाएं मिलेगी

इस हॉस्पिटल में वेंटिलेटर सहित 125 आईसीयू बेड और 375 सामान्य बेड होंगे। हर बेड में ऑक्सीजन की व्यवस्था होगी। इसके साथ ही इन अस्पतालों में काम करने वाले डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ को सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा दी जाएगी।

गौरतलब है कि पिछले कुछ समय में यह भी देखा गया है कि बढ़ते कोरोना मरीजों के चलते लोगों को हॉस्पिटल में बेड मिलने में दिक्कत आ रही थी। ऐसे में सरकार यही कोशिश कर रही है कि इस महामारी से निपटने के लिए ज्यादा से ज्यादा कोविड-19 केंद्रित हॉस्पिटल बनाए जाएं। इस तरह सामान्य अस्पतालों में कोरोना के अलावा आए दूसरे मरीजों को भी इलाज करवाने में कोई तकलीफ नहीं होगी।

बताते चलें कि भारत में अभी तक कोरोना के 31 लाख से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। इसमें 23 लाख से अधिक ठीक हो चुके हैं जबकि 57,542 लोगों की मौत हो गई है। वहीं बिहार की बात करें तो यहां 1 लाख 20 हजार मामले सामने आए हैं जिसमें 503 मर चुके हैं और 94,858 ठीक हुए हैं।

Back to top button