समाचार

सुशांत की कंपनी के डॉक्यूमेंट में हुए थे फर्जी सिग्नेचर, अब होगी बैंक ट्रांजेक्शन की जांच

युवा अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन को 2 महीने से भी अधिक का समय गुजर चुका है, मगर अभी तक असली गुनहगार को पकड़ा नहीं जा सका है। सुशांत सुसाइड प्रकरण में अब तक कई अहम मोड़ सामने आ चुके हैं। लिहाजा हर रोज हो रहे नए नए खुलासों से यह मामला सुलझने की बजाए  लगातार उलझता ही जा रहा है। इस केस की तफ्तीश, कई केंद्रीय जांच समितियां कर रही हैं। मसलन प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मनी लॉन्ड्रिंग के एंगल से सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया से पूछताछ कर रही है, तो वहीं सीबीआई भी इस मामले की शुरूआती तफ्तीश पूरी कर चुकी है। इसी बीच एक नया खुलासा हुआ है।

दरअसल नया खुलासा सुशांत की कंपनी को लेकर है। बताया जा रहा है कि साल 2020 में सुशांत की कंपनी के कई अहम दस्तावेजों पर सुशांत के नाम के फर्जी हस्ताक्षर किए गए। इस बात के सामने आने के बाद जांच समितियां इस पहलू की तफ्तीश करने में जुट गई हैं। वहीं सोशल मीडिया पर लगातार सवाल उठ रहे हैं कि आखिर किसने सुशांत के नाम के फर्जी हस्ताक्षर किए? माना जा रहा है कि यह सुशांत के खिलाफ जालसाजी का ही एक हिस्सा है। सुशांत का फायदा उठाने के लिए उनके नाम के फर्जी हस्ताक्षर किए जाने का शक है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो प्रवर्तन निदेशालय और अन्य जांच समितियां इस पहलू की जांच करने में जुट गई हैं। बताया जा रहा है कि फर्जी हस्ताक्षर के संबंध में उन सभी संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है, जिनका नाम इस पूरे मामले में सामने आ रहा है। यही नहीं सुशांत की कंपनी के ट्रांजेक्शन हिस्ट्री की भी जांच पड़ताल की जा रही है।

परिवार के साथ बेहद खुश थे सुशांत 

सुशांत सिंह राजपूत अपने परिवार वालों के साथ काफी खुश थे, पिता से लेकर बहनों और अन्य सदस्यों के साथ भी सुशांत के अच्छे रिश्ते थे। जबकि उन्हें बदनाम करने के लिए परिवार के सदस्यों के साथ रिश्ते खराब होने जैसे आरोप लगाए गए। सुशांत का एक दूसरा वीडियो इन दिनों सामने आ रहा है, जिसमें वे अपने परिवार के साथ हंसते हुए दिखाई दे रहे हैं। इसके अलावा भी उनका एक वीडियो सामने आया था, जिसमें वे अपने परिवार वालों  के साथ भजन गाते हुए दिखाई दिए थे। इन वीडियोज के सामने आने के बाद माना जा रहा है कि सुशांत डिप्रेशन जैसी किसी बीमारी से ग्रस्त नहीं थे।

शुरू से ही सामने आ रही है सबूतों से छेड़छाड़ की बात

सुशांत सुसाइड प्रकरण में शुरूआत से ही ये बात सामने आ रही है कि सबूतों से छेड़छाड़ की गई है। यहां तक कि सुशांत के पोस्टमार्टम रिपोर्ट व इस मामले  से जुड़ी अन्य चीजों को लेकर भी कई तरह के सवाल खड़े हुए हैं। गौरतलब है कि फैंस समेत उनके परिवार वाले भी कह रहे हैं कि इस पूरे प्रकरण में सबूतों से छेड़छाड़ की गई है।

इंसाफ के लिये पटना में फिर हुआ प्रदर्शन

सुशांत सुसाइड मामले में शुरुआत से ही फैंस न्याय की गुहार लगा रहे हैं। सोशल मीडिया पर कई तरह की मुहिम भी छिड़ चुकी है। इसी कड़ी में अब पटना में रविवार को जस्टिस फॉर सुशांत के सदस्यों ने प्रदर्शन किया। पटना के राजीव नगर इलाके में हुए इस प्रदर्शन के दौरान सभी ने आरोपितों पर जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग की है। इसके आलावा प्रदर्शनकारियों ने महाराष्ट्र के उद्धव ठाकरे सरकार पर इस मामले की अनदेखी का आरोप भी लगाया। जस्टिस फॉर सुशांत के प्रभारी विशाल सिंह राजपूत ने कहा कि जानबूझकर इस मामले को महाराष्ट्र की सरकार ने दबाने की कोशिश की।

Back to top button