राजनीति

योगी के राज में रामराज्य का आगमन, धंधा बदलकर चाय बेचने लगे हैं मीट व्यापारी!

योगी ने उत्तर प्रदेश की सत्ता सम्भाल ली है, इसके साथ ही उन्होंने आते ही प्रदेश में कई परिवर्तन किये हैं। आते ही उन्होंने पहले भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों को निकालना शुरू किया। इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि काम की जगह पर किस तरह के कपड़े पहनकर आना है। उन्होने सबसे बड़ा काम यह किया कि प्रदेश में चल रहे सभी अवैध बूचड़खानों को बंद करवाने की मुहीम चलाई। अब हालत यह हो गयी है कि मीट व्यापारी बुरी तरह से अपना गुजारा करने को मजबूर हो गए हैं।

बदल लिया है अपना धंधा:

बूचड़खाने बंद होने की वजह से गोस्त व्यापारियों ने अपना धंधा बदलना शुरू कर दिया है। घर का खर्च चलाने के लिए व्यापारी दूसरे कामों में लगना शुरू कर चुके हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुजफ्फरनगर में रहने वाले गोस्त व्यापारियों ने अपना धंधा बदलकर चाय और पान की दुकानें खोलनी शुरू कर दी हैं।

कई लोगों ने खोली है परचून की दुकानें:

कई लोगों ने तो घर का खर्च चलाने के लिए परचून की दुकानें भी खोल ली हैं। यहां के लोगों का कहना है कि सरकार द्वारा बूचड़खाने बंद करवाने के बाद घर का खर्च चलाना बहुत मुश्किल हो गया था। घर का खर्च चलाने के लिए कुछ काम तो करना जरूरी है वरना खाने के लाले पड़ जाएंगे।

भूखे तो ना मरते:

एक गोस्त व्यापारी का कहना है कि हमारी बाजार में एक दुकान थी जो पुलिस वालों ने बंद करवा दी। जीवन जीने के लिए कुछ और काम तो करना ही था, इसलिए चाय की दुकान खोल ली। योगी जी ने गोस्त की दुकानें बंद करवानी शुरू कर दी ऐसे में भूखे तो ना मरते। अब हमने चाय की दुकान खोल ली है और हमारे पास इस दुकान का लाइसेंस भी है। व्यापारियों ने यह कहा कि जब सरकार ने ही सभी दुकाने बंद करवा दी तो हम क्या करते।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close