बॉलीवुड

सूर्यवंशम फिल्म की वो हीरोइन जिसकी मौत पर रो पड़ा था हिंदुस्तान, दर्दनाक हादसे ने ली थी जान

सौंदर्या इतनी खूबसूरत थीं कि उनकी तुलना बॉलीवुड की हेमा मालिनी से होती थी और उन्हें साउथ की ड्रीम गर्ल कहा जाता था

फिल्म ‘सूर्यवंशम’ से बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने वालीं अभिनेत्री सौंदर्या का जन्म 18 जुलाई 1972 को कर्नाटक के मुल्बगल में हुआ था। सौंदर्या साउथ सिनेमा की बेहतरीन अदाकाराओं में से एक थीं। एक प्रतिभावान एक्ट्रेस होने के साथ-साथ सौंदर्या इतनी खूबसूरत थीं कि लोग उनकी एक झलक पाने  के लिए पागल हो जाते थे। साउथ फिल्म इंडस्ट्री में सौंदर्या की तुलना बॉलीवुड एक्ट्रेस हेमा मालिनी से होती थी। उन्हें साउथ की ड्रीम गर्ल कहा जाता था। सौंदर्या अगर आज जीवित होतीं तो अपना 48वां जन्मदिन मनातीं। उन्हें याद करते हुए आज आपको बताते हैं साउथ की ड्रीम गर्ल से जुड़ी कुछ खास बातें।

फिल्म सूर्यवंशम से की थी बॉलीवुड में एंट्री

सौंदर्या ने साल 1992 में फिल्म ‘गंधर्व’ से एक्टिंग की दुनिया में कदम रखा था। इसके बाद उन्होंने तमिल तेलुगू, मलयालम और कन्नड़ भाषा में एक से बढ़कर एक फिल्म की। उनका फिल्मी सफर छोटा ही रहा, लेकिन उन्होंने बहुत जल्द अपनी पहचान बना ली थी। उनकी फिल्मो के लिए उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार सहित अन्य पुरस्कार से भी नवाजा गया था।

सौंदर्या ने बॉलीवुड में महज एक फिल्म में काम किया लेकिन इस फिल्म की चर्चा आज तक होती है। सौंदर्या ने सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के साथ 1999 में आई फिल्म ‘सूर्यवंशम’ में काम किया था। इस फिल्म में अपनी एक्टिंग के लिए सौंदर्या ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं। हालांकि फिल्म नहीं चली तो उन्होंने बॉलीवुड का रास्ता छोड़ दिया।12 साल के करियर में सौंदर्या ने 100 से भी ज्यादा फिल्मों में अभिनय किया था।

डॉक्टरी की पढ़ाई छोड़ बनी थीं अभिनेत्री

एक एक्ट्रेस होने के साथ-साथ सौंदर्या फिल्म निर्माता भी थीं। उन्हें बेस्ट फीचर फिल्म के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला था। सौंदर्या डॉक्टर बनना चाहती थीं और वो एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहीं थी, लेकिन जब उन्हें फिल्मों के ऑफर मिलने लगें तो उन्होंने पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी। इसके बाद उन्होंने कई शानदार फिल्मों में काम किया और दुनिया को अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया।

12 साल के करियर में सौंदर्या एक हिट अभिनेत्री बन चुकी थीं, लेकिन उन्होंने किसी फिल्मस्टार से शादी नहीं की। बता दें कि सौंदर्या ने अपने बचपन के दोस्त सॉफ्टवेर इंजीनियर जीएस रघु से साल 2003 में शादी रचाई थी। हालांकि शादी के एक साल बाद ही उनकी प्लेन दुर्घटना में मौत हो गई। सौंदर्या की अचानक हुई मौत ने सिर्फ इंडस्ट्री को ही नहीं बल्कि फैंस को भी झकझोर कर रख दिया था।

मौत के वक्त प्रेग्ननेंट थीं सौंदर्या

साल 2004 में देश में लोकसभा चुनाव होने वाले थे। साथ ही कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव भी हो रहे थे। आंध्र प्रदेश में भी चुनाव की गूंज थी। टीडीपी के नेता और मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री पद के दावेदार के रुप में खड़े थे। उनके राज्य की एक सीट थी करीमनगर और इस लोकसभा सीट से बीजेपी के वरिष्ठ नेता विद्या सागर राव भी चुनाव लड़ रहे थे। उन्हीं दिनों में कुछ वक्त पहले ही सौंदर्या बीजेपी में शामिल हुई थीं।

सौंदर्या बीजेपी और तेलुगू देशम पार्टी के उम्मीदवार के चुनाव प्रचार के लिए एक एयरक्राफ्ट से जा रही थी। चार सीट वाले प्राइवेट एयरक्राफ्ट ने बैंग्लुरु के जक्कुर एयरोड्रम से उड़ान भरी और करीब 100 फीट ऊपर जाते ही  क्रैश हो गया। एयरक्राफ्ट में सौंदर्या के साथ-साथ उनके भाई अमरनाथ, हिंदू जागरण समिति के सेक्रेटरी रमेश कदम और पायलट डॉय फिलीप मौजूद थे। इस हादसे में सभी लोग मारे गए। जिस समय ये दुर्घटना हुई उस वक्त 32 साल की सौंदर्या प्रेग्नेंट थीं और मां बनने वाली थीं।

दर्दनाक हादसे के साथ हुआ था सौंदर्या का अंत

जब ये खबर लोगों को पता चला तो हर कोई अवाक रह गया। इतनी खूबसूरत और प्रतिभावान अदाकारा का इतना दर्दनाक अंत। बताया जाता है कि नेशनल हाईवे 7 से महज 50 मीटर दूर यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चरल साइसेंस के गांधी कृषि मैदान में एयरक्रॉफ्ट गिरा था। वहां कुछ मजदूर काम कर रहे थे। वो यात्रियों को बचाने के लिए एयरक्रॉफ्ट के पास पहुंचे लेकिन जोरदार धमाका हो गया। सब तरफ आग फैल गई और मजदूर बुरी तरह जल गए। अंदर बैठे चारों लोग कोयले का खंड बन गए। यहां तक की उनके शरीर को पहचानना मुश्किल हो गया।

जब लोगों को सौंदर्या की प्रेग्नेंसी की बात पता चली तो हर किसी की आंखे डबडबा गईं।सौंदर्या हमेशा-हमेशा के लिए सबसे दूर चलीं गईं।आज अगर सौंदर्या होतीं तो दक्षिण सिनेमा में उनका ओहदा  कुछ और ही  होता। सौंदर्या अब इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन अपने चाहने वालों के दिलों में वो हमेशा जिंदा रहेंगी।

Back to top button