दिलचस्प

इस भारतीय क्रिकेटर की वजह से ग्रांट फ्लावर की गर्दन पर यूनिस खान ने रखा था चाकू, कोच का खुलासा

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन अपने खेल से ज्यादा विवादों के कारण सुर्खियों में रहते हैं। पूर्व में उन पर मैच फिक्सिंग का आरोप लग चुका है और अब उनसे जुड़ा एक नया विवाद सामने आ रहा है। दरअसल पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज राशिद लतीफ ने मोहम्मद अजहरूद्दीन से जुड़ा एक चौंका देने वाला खुलासा किया है। आइये जानते हैं कि आखिर क्या है पूरा मामला…

राशिद लतीफ ने कहा है कि यूनिस खान ने पाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लॉवर की गर्दन पर चाकू रख दिया था, इस घटना में मोहम्मद अजहरूद्दीन की भूमिका भी हो सकती है। जी हां, राशिद के अनुसार अजहरूद्दीन की वजह से ही यूनिस खान ने ग्रांट फ्लॉवर की गर्दन पर चाकू रखा था। बता दें कि फ्लॉवर 2014 से 2019 तक पाकिस्तान के बल्लेबाजी कोच थे। फ्लॉवर ने हाल ही में खुलासा किया था कि जब मैं यूनिस खान को बल्लेबाजी टिप्स दे रहा था, तब यूनिस ने मेरे गर्दन पर चाकू रख दिया था।

इस मामले में राशिद लतीफ ने यूट्यूब चैनल कॉट बिहाइंड शो में कहा था कि ‘हम नहीं जानते हैं कि ड्रेसिंग रूम में क्या होता है, मगर यूनिस द्वारा फ्लॉवर के गर्दन पर चाकू रखने के पीछे अजहरूद्दीन एक कारण हो सकते हैं। राशिद बताते हैं कि यूनिस ने साल 2016 में ओवल में एक दोहरा शतक बनाया था। तब यूनिस ने बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लॉवर का नाम नहीं लिया था बल्कि उन्होंने कहा था कि मैंने संघर्ष के दौरान अजहरूद्दीन से बातचीत की थी।

बल्लेबाजी टिप्स देने पर यूनिस ने मेरे गर्दन पर रखा था चाकू – ग्रांट फ्लॉवर

ग्रांट फ्लॉवर

राशिद लतीफ कहते हैं कि ये एक बड़ा कारण हो सकता है क्योंकि एक खिलाड़ी अपने टीम के बल्लेबाजी कोच के बजाए किसी दूसरे का चयन कर रहा है। लतीफ ने कहा कि ग्रांट फ्लॉवर ने निश्चिच रूप से पाकिस्तान की सेवा की और बतौर बल्लेबाजी कोच उन्होंने अच्छे काम भी किए होंगे। दरअसल, पिछले दिनों हुए एक शो में ग्रांट फ्लॉवर ने ये चौंकाने वाला खुलासा किया था। इस शो में उनके साथ उनके भाई एंडी फ्लॉवर और नील मैंथोर्प भी मौजूद थे।

यूनिस खान

इस घटना के बारे में बताते हुए ग्रांट फ्लॉवर ने कहा था कि ‘बल्लेबाजी टिप्स देने पर यूनिस खान ने एक बार उनके गर्दन पर चाकू रख दिया था।’ साथ ही उन्होंने कहा कि ‘इस पूरे मामले में टीम के कोच मिकी आर्थर को दखल देना पड़ा था। मिकी ऑर्थर ने इस पूरे मामले की पुष्टि भी की थी, मगर कोई विवरण प्रस्तुत नहीं किया था।’

मिकी ऑर्थर ने किया था बीच-बचाव

ग्रांट फ्लॉवर ने इस पूरे मामले को याद करते हुए कहा कि यूनिस खान को बल्लेबाजी के गुर सिखाना काफी मुश्किल काम था। उन्होंने कहा मुझे ब्रिसबेन की घटना अच्छे से याद है, जब मैं टेस्ट मैच के दौरान सुबह नाश्ते की टेबल पर था और यूनिस खान को बल्लेबाजी के टिप्स देने की कोशिश कर रहा था, लेकिन उसे मेरी सलाह अच्छी नहीं लगी। यही कारण है कि उसने मेरी गर्दन तक चाकू ले आया, उस समय मिकी ऑर्थर भी साथ बैठे थे। बीच-बचाव के लिए मिकी को आना पड़ा था।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close