ब्रेकिंग न्यूज़

चीन से तनाव के बीच वायुसेना ने LAC पर दिखाया दमखम, तो पड़ोसी मुल्क की उड़ी नींद- देखें वीडियो

चीन से जारी तनाव के बीच मोदी सरकार हर मोर्च पर पड़ोसी मुल्क को सबक सिखाने की तैयारी कर चुकी है। पहले 59 चाइनीज ऐप को बैन करके पड़ोसी देश को सबक सिखाया, तो अब बॉर्डर पर वायुसेना अपना दमखम दिखाती हुई नजर आ रही है। जी हां, भारतीय वायुसेना ने एलएसी पर अपनी ताकत दिखाई, तो पड़ोसी मुल्क में हड़ंकप मच गया। दरअसल, भारत कूटनीतिक स्तर पर चीन को मात देने में बिल्कुल भी पीछे नहीं हट रहा है और पीएम मोदी की लेह पर सरप्राइज विजिट से तो पहले से ही चाइना बौखलाया हुआ है। तो चलिए जानते हैं कि पूरी खबर क्या है?

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों सुखोई-30, एमकेआई और मिग-29 ने एलएसी पर उड़ान भरी। यह एक अभ्यास था, लेकिन इससे पड़ोसी देश की नींद ज़रूर उड़ गई होगी। दरअसल, पीएम मोदी के दौरे के ठीक दूसरे दिन वायुसेना का ऐसा अभ्यास करना चीन को कई कड़े संदेश देता है। बता दें कि पीएम मोदी ने लेह से चीन का नाम लिए बिना ही उसे भारत की लाल आंखें दिखा दी थी। इतना ही नहीं, पीएम मोदी ने कहा था कि अब विस्तारवाद का युग खत्म हो चुका है, तो विकासवाद पर फोकस करना चाहिए।

चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए हम तैयार हैं – वायुसेना


एलएसी पर दमखम दिखाने के बाद वायुसेना के कमांडर्स जोश में नजर आए। इस दौरान मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि वह किसी भी चुनौती के लिए तैयार हैं और हमारे पास पर्याप्त संसाधन है। मीडिया से बातचीत में  IAF के एक विंग कमांडर ने कहा कि वायुसेना किसी भी ऑपरेशन के लिए तैयार है। हमारे पास पर्याप्त मैन पॉवर है और पर्याप्त संसाधन है, जिससे हम किसी भी चुनौती का मुकाबला बेहद आसानी से कर सकते हैं। बता दें कि वायुसेना का जोश हमेशा हाई रहता है और वे हर चुनौती का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।

भारतीय वायुसेना में एक स्क्वाड्रन लीडर ने अपनी बातचीत में कहा कि वायुसेना में हर योद्धा पूरी तरह से तैयार है। साथ ही उन्होंने कहा कि हमारा जोश हमेशा से ऊंचा रहा है और गौरव के साथ आकाश को छू रहा है। कुल मिलाकर, चीन को आंख दिखाने के लिए वायुसेना पूरी तरह से तैयार हो चुकी है। बता दें कि वायुसेना ने पाकिस्तान में घुसकर एयरस्ट्राइक किया था, जिसके बाद पूरी दुनिया ने भारत की ताकत को सराहा था। ऐसे में अब हमारे पास पर्याप्त ताकत है कि हम दुश्मन को मुंहतोड़ जवाब दे सकें।

चीन के 40-45 जवान हताहत हुए थे

जवानों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी

गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प में हमारे 20 जवान शहीद हो गए थे, तो कुछ घायल हो गए थे, लेकिन चीन के 40 से 45 जवान हताहत हुए थे। मिली जानकारी के मुताबिक, चीन ने अपने हताहत जवानों की संख्या नहीं बताई। याद दिला दें कि शुक्रवार को पीएम मोदी ने लेह का दौरा किया था और उन्होंने उस दौरान जवानों का हौसला बढ़ाया। इस दौरान उन्होंने चीन का नाम लिए बिना ही उसे ललकारा था। इसके बाद वे घायल सैनिकों से अस्पताल में मिलने भी पहुंचे थे। इसके साथ ही भारत सरकार ‘आत्मनिर्भर भारत’ को सफल बनाने के लिए तरह तरह के कदम उठा रही है, ताकि हम चीन को आर्थिक मोर्च पर भी सबक सीखा सकें।

Back to top button