समाचार

लेह में पीएम मोदी की ‘सरप्राइज विजिट’, चीन से तनाव के बीच बढ़ाया जवानों का हौसला- देखें वीडियो

चीन से जारी तनाव के बीच मोदी अचानक से लेह पहुंच गए।

भारत-चीन सीमा विवाद के चलते पिछले कुछ दिनों से दोनों देशों के रिश्ते कुछ ठीक नहीं चल रहे हैं और इस समय तनातनी बढ़ी हुई है। गलवान घाटी में हुए भारतीय और चीनी सैनिकों के हिंसक झड़प के बाद से ही भारत लगातार चीन को ये बताने की कोशिश कर रहा है कि हम डरने वालों में से नहीं हैं और भारत अपने इस संदेश को पहुँचाने में बहुत हद तक सफल रहा है। इसी बीच गलवान घाटी को लेकर कोई ठोस परिणाम आने से पहले ही पीएम मोदी ने एक बड़ा कदम उठाया और आज सुबह सुबह लेह की नीमू में सेना के जवानों के पास पहुंच गए और वहां उनका हौसला बढ़ाया।

जब पूरा देश सो रहा था, तब पीएम मोदी सुबह 7 बजे लेह पहुंच गए थे। वे सीधे लेह के नीमू पोस्ट में पहुंचे। मालूम हो कि ये इलाका लेह एयरपोर्ट से तकरीबन 35 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। पीएम मोदी सुबह सुबह यहां पहुंचे और सेना के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की और वहां के ताजा हालात पर चर्चा की और पूरा जायजा लिया। प्रधानमंत्री नीमू पोस्ट पर बने खास बंकरों में मौजूद जवानों से भी मिले। बता दें कि पीएम मोदी ने इन जवानों से मिलकर उनका हौसला अफजाई किया। पीएम के लेह दौरे की तस्वीरें सामने आई हैं, जिसमें साफ देखा जा सकता है कि पीएम अधिकारियों से बैठकर वहां के ताजा हालात पर चर्चा कर रहे हैं।

पीएम के साथ सीडीएस और आर्मी चीफ मौजूद

पीएम मोदी लेह के दौरे पर अकेले नहीं थे, बल्कि उनके साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे मौजूद हैं। मगर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह नहीं दिखे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राजनाथ सिंह पहले इस दौरे में पीएम मोदी के साथ जाने वाले थे, मगर बाद में कुछ कारणवश उनके दौरे को रद्द कर दिया गया।

गौरतलब है कि लेह में स्थित नीमू दुनिया की सबसे ऊंची और खतरनाक पोस्ट मानी जाती है। यही वजह है कि पीएम मोदी के अचानक हुए इस दौरे से हर कोई हैरान रह गया। पहले कहा जा रहा था कि लेह के नीमू पोस्ट में सिर्फ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ ही आएंगे, मगर शुक्रवार अल सुबह पीएम मोदी भी इस विजिट में शामिल हुए और सभी को चौंका दिया।

चीन से तनाव के बीच अहम है ये पीएम मोदी का ये दौरा

चीन के साथ लगातार बढ़ रहे तनातनी के मद्देनजर पीएम के इस दौरे को काफी अहम माना जा रहा है। चीन के साथ सीमा पर जिस तरह के हालात इस समय बने हुए हैं और इस बीच पीएम मोदी का लेह पहुंचना एक ठोस कदम है और चीन के लिए ये एक बड़ी चेतावनी भी माना जा रहा है।

बता दें कि पिछले दो महीनों में मामले को शांत करने के लिए चीन के साथ सैन्य और डिप्लोमेटिक स्तर पर कई चरणों की बातचीत हो चुकी है, मगर अभी तक कोई भी ठोस परिणाम निकलकर सामने नहीं आया है। पीएम मोदी जब जवानों के बीच पहुँचे, तो वहां मौजूद जवानों ने भारत माता की जय और वंदे मातरम के नारे लगाए।

Back to top button
?>