अध्यात्म

शास्त्रों के अनुसार इन चीजों को कभी नहीं रखें खुला, ऐसे करने से भाग्य पर पड़ता है बुरा असर

अक्सर ऐसी कई सारी चीजें होती हैं जिन्हें हमारे बुजुर्ग खुला नहीं रखने की सलाह देते हैं। ऐसा माना जाता है कि इन चीजों को खुला रखने से भाग्य पर असर पड़ता है और सेहत भी खराब हो जाती है। आज हम आपको ऐसी ही 6 चीजों के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। जिन्हें खुला ना रखने की सलाह हमारे शास्त्रों में भी दी गई है। इसलिए आप भी इन 6 चीजों को खुला रखने से बचें।

शास्त्रों के अनुसार इन चीजों को कभी नहीं रखें खुला

शिखा

बुजुर्गों के अनुसार शिखा को खुला नहीं रखना चाहिए। शिखा को खुला रखने से आंखों पर बुरा असर पड़ता है और शरीर की ऊर्जा खत्म हो जाती है। शास्त्रों में शिखा का जिक्र करते हुए लिखा गया है कि शिखा से इंद्रियों पर काबू पाया जा सकता है। इसे बांधकर रखने से स्मरण शक्ति का विकास होता है और मानसिक रोग से रक्षा होती है। शिखा की मदद से शरीर की ऊर्जा बाहर नहीं जाती है। वहीं जो लोग शिखा को बांधकर नहीं रखते हैं, उन लोगों का रक्त संचार सही से नहीं होता है। इसलिए आप शिखा को खुला ना छोड़ें और सदा इसे बांधकर ही रखें।

किताब

कई लोग पढ़ाई करने के बाद किताब को खुला ही छोड़ देते हैं, जो कि सही नहीं माना जाता है। किताब को खुला रखने से विद्या और बुद्धि में हानि होती है और यही वजह है कि बुजुर्ग पढ़ाई करने के बाद किताब को बंद करके रखने को कहते हैं।

मुंह बंद रखकर सोएं

कई लोगों को मुंह खोलकर सोने की आदत होती है और शास्त्रों में इस आदत को गलत माना गया है। कहा जाता है कि जो लोग मुंह खोलकर सोते हैं वो हमेशा थका हुआ ही महसूस करते हैं और उनके स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर पड़ता है। साथ में ही सोते समय मुंह में कीड़े-मकोड़े जाने का भी डर रहता है। इसलिए आप अपने मुंह को खोलकर ना सोएं।

खाना

खाने को हमेशा ढककर ही रखना चाहिए। खुला हुआ खाना दूषित हो जाता है और इस खाने को खाने से पेट खराब हो जाता है। इसलिए जब भी आप खाना बनाए तो उसे ढककर ही रखें। कई लोग खाना बनाने के बाद उसे खुला ही छोड़ देते हैं। जिससे की वो खाने योग्य नहीं रहता है। साथ में ही उसमें कीड़े-मकोड़े भी चले जाते हैं।

घर का मंदिर

पूजा करने के बाद घर के मंदिर को बंद करके ही रखें। शास्त्रों के अनुसार पूजा करने के बाद मंदिर को खुला रखने से घर में सकरात्मक ऊर्जा खत्म होने लग जाती है। इतना ही नहीं मंदिर के खुला होने से बाहर से आए लोगों की नजर भी देवी-देवताओं पर पड़ती है। जो कि अच्छी नहीं माना जाता है। इसलिए मंदिर को बंदकर ही रखें।

बाल

महिलाओं को सदा अपने बाल बांधकर ही रखने चाहिए। बुजुर्गों के अनुसार जो महिलाएं हमेशा अपने बालों को खोलकर रखती हैं, उन महिलाओं के घर में सुख शांति स्थापित नहीं हो पाती है और घर के सदस्य हमेशा बीमार रहते हैं। इसलिए महिलाओं को अपने बाल खुले नहीं छोड़ने चाहिए और उनको बांधकर ही रखना चाहिए।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close