समाचार

पत्नी से आखिरी कॉल पर बोला था जवान- ‘चीनी सेना के सामने दीवार की तरह खड़े हैं हम’

पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में हुए चीन के साथ सैनिक संघर्ष में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए। इस घटना के बाद पूरा देश स्तब्ध हो गया था। इतना ही नहीं फिलहाल देश में चीन के खिलाफ एक गुस्से का माहौल भी बना हुआ है। देशवासी जहां चीनी उत्पादों का विरोध कर रहे हैं, तो वहीं  सरकार भी अब चीन को आर्थिक मोर्चे पर जवाब देने की तैयारी कर रही है। 20 जवानों के शहीद हो जाने के बाद पीएम मोदी ने बुधवार को दिए अपने संदेश में कहा था कि अगर चीन ने उकसाया, तो भारत जवाब देने से पीछे नहीं हटेगा।

हमारी सेना चीनी सेना के सामने दीवार की तरह खड़ी है…

याद दिला दें कि चीन के साथ बॉर्डर पर सैनिक संघर्ष में देश के अलग अलग हिस्सों के 20 भारतीय जवान शहीद हुए हैं। इसमें से एक पंजाब के पटियाला जिले के नायब सूबेदार हैं। जिनका नाम मनदीप सिंह है। मनदीप के परिवार को जैसे ही इसकी सूचना मिली, घर में शोक का माहौल हो गया। उनके परिजन रोते रोते बेसुध हो गए। साथ ही पूरे इलाके में मातम पसर गया। शहीद जवान मनदीप सिंह की पत्नी ने अपने पति को याद करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले ही उनसे बात हुई थी और उन्होंने कहा था कि हमारी फौज चीनी सेना के सामने दीवार की तरह डटी हुई है।

शहीद जवान मनदीप सिंह की पत्नी का नाम गुरदीप कौर है। उन्होंने कहा कि मेरे पति चाहते थे कि हमारे बच्चे बड़े होकर अफसर बनें। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मनदीप का सेना में काफी लंबा अनुभव था। उन्होंने तकरीबन 23 साल पहले साल 1997 में सेना ज्वाइन की थी। तब से लेकर अब तक देश की सेवा में लगातार जुटे रहे। उनके परिवार में पत्नी समेत दो बच्चे और मां हैं, जबकि पिताजी का निधन कई साल पहले हो गया था। मनदीप तो देश की सेवा करते करते शहीद हो गए, लेकिन अपने पीछे अपने पूरे परिवार को छोड़ गए।

सदमे में हैं पूरा परिवार

बता दें कि उनकी 15 साल की बेटी महकप्रीत कौर और 12 साल का बेटा जोबनप्रीत कौर अपने पिता के गुजर जाने से काफी गहरे सदमे में हैं। कुछ दिनों पहले ही मनदीप अपनी ड्यूटी से छुट्टी लेकर अपने परिवार से मिलने घर आए थे।  उनकी पत्नी गुरदीप बताती हैं कि मेरे पति ने गलवान घाटी की पूरी जानकारी मुझे कुछ दिनों पहले ही दी थी। साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि चीनी सेना के सामने भारतीय सेना भी कम नहीं है। और अपनी सेना दीवार बनकर उनके सामने खड़ी है।

गौरतलब है कि चीन और भारत के बीच पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में 15-16 जून की रात को सैनिक संघर्ष हुआ था। इस घटना में भारत के 20 जवान शहीद हो गए, तो वहीं सूत्रों के अनुसार चीन के करीब 43 जवानों के हताहत हुए हैं। बताया जा रहा है कि इसमें से एक कमांडिंग ऑफिसर भी शामिल है। हालांकि, चीनी सेना ने अभी तक अपने मरने वालों जवानों के आंकड़ों जगजाहिर नहीं किया है।

Back to top button
शादी से पहले लिव इन के मजे ले चुके हैं ये सितारे बेहद खूबसूरत है अरविन्द अकेला कल्लू की दुल्हनिया, देखकर हो जाएंगे लट्टू