मुस्लिम उलेमा ने योग के समर्थन में, कहा अल्लाह हु अकबर” का सहारा लें

आज पूरा विश्व योग दिवस माना रहा है । इसी दौरान मुस्लिम उलेमा ने योग को किसी भी धर्म से न जोड़ने की बात रखी  है। उन्होंने कहा कि योग से स्वास्थ्य लाभ मिलता है। सेहत के लिए कोई भी योग कर सकता है। ओम के स्थान पर अल्लाह हू का उच्चारण कर सकते हैं।

मुस्लिम उलेमा ने योग के समर्थन में "अल्लाह हु अकबर" का सहारा ले वो बोला जिसे सुन कर जल जाएंगे योग विरोधी

योग का समर्थन करते हुए नायाब शहर के काजी डा. अशरफ हुसैन ने कहा की इस्लाम धर्म में में सूफिया ए इकराम ने कई तरह यौगिक क्रियाओं को अपनाया गया  है। वे भी अपनी क्रिया में सांस अंदर लेते वक्त अल्लाह और सांस छोड़ते समय हू कहते हैं। यह भी एक योग क्रिया है।

नायब शहर  कादरी ने योग के समर्थन में कहा किसाथ ही उन्होंने लोगों से योग को किसी भी धर्म विशेष से न जोड़ने की अपील भी की। बताया कि हदीस पाक में भी स्वस्थ रहने के लिए इंसान को लाठी चलाना, तैराकी करना, घुड़सवारी करना और कुश्ती की सलाह दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.