समाचार

आने वाले समय में कोरोना की स्थिति हो सकती है और गंभीर, फिर से देश में लग सकता है लॉकडाउन

भारत में कोरोना वायरस के मामलों ने काफी रफ्तार पकड़ ली है और बेहद ही कम समय के अंदर भारत में 2 लाख 70 हजार से अधिक लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। भारत सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए देश में लॉकडाउन लगाया था जो कि काफी समय तक लगा रहा था। वहीं अब धीरे-धीरे लॉकडाउन को खत्म किया जा रहा है और लॉकडाउन के खत्म होते ही देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। जो कि चिंता का विषय बन गया है।

पांच बार लगा लॉकडाउन

भारत सरकारी की और से देश में पांच बार लॉकडाउन को लगाया गया है। मार्च महीने से लगे लॉकडाउन को 30 मई को खत्म किया गया है। हालांकि लॉकडाउन को पूरी तरह से नहीं हटाया गया है और अभी भी कई राज्यों में लॉकडाउन लगा हुआ है। लेकिन लॉकडाउन में दी गई ये ढील गलत साबित हो रही है और लोगों के बीच कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। लॉकडाउन में ढील देते ही संक्रमण के नए मामलों में तेजी आ गई है।

भारत में फिर से लग सकता है लॉकडाउन

जिस तरह से भारत में कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, उसको देखते हुए ये लग रहा है कि आने वाले समय में फिर से सरकार देश में लॉकडाउन लगा सकती है। ये दावा नोमुरा रिसर्च फर्म ने अपने एनालिसिस में किया है। रिसर्च में लोगों की आवाजाही और कोरोना के बढ़ते मामलों के आधार पर ये बात कही गई है। रिसर्च की रिपोर्ट में कहा गया है कि ‘हमारे विजुअल टूल ने जो रिजल्ट दिए है उसके अनुसार 17 देश ऐसे हैं। जहां अर्थव्यवस्था को दोबारा शुरू करने की प्रक्रिया ऑन ट्रैक पर है। वहां कोरोना के दूसरे चरण यानी सेकेंड वेव के कोई संकेत नहीं दिख रहे हैं। जबकि 13 देशों में कोरोना के दोबारा लौटने की आशंका लग रही है और 15 देश ऐसे हैं, जहां सेकेंड वेव आने की पूरी आशंका है।

रिसर्च के अनुसार लॉकडाउन में ढील देने से दो परिस्थतियां पैदा हो सकती है जो कि अच्छी और बुरी हैं। अच्छी स्थिति के तहत लोगों से उनका रोजगार नहीं छीनेगा। जबकि दूसरी परिस्थिति यानी बुरी परिस्थिति के तहत कोरोना तेजी से फैलेगा और रोज नए मामले बड़ी संख्या में आएंगे। गंभीर हालातों में कुछ जगहों पर फिर से लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

45 देशों पर कि गई रिसर्च

ये रिसर्च 45 देशों पर की गई है और इन 45 देशों को 3 समूहों में बांटा गया है। जिसमें से पहला ऑन ट्रैक यानी सही रास्ते पर। दूसरा चेतावनी यानी वार्निंग साइन और तीसरा डेंजर जोन सूमह है। इस सूची में भारत को डेंजर जोन में रखा गया है। इस जोन में भारत के साथ इंडोनेशिया, चिली, पाकिस्तान, स्वीडन, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका और कनाडा देश शामिल हैं। जबकि फ्रांस, इटली और दक्षिण कोरिया को ऑन ट्रैक देश पर रखा गया। वहीं अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देश चेतावनी यानी वार्निंग साइन श्रेणी में शामिल हैं।

डेंजर जोन में आने वाले देशों में कोरोना काफी तेजी से फैलने वाला है और इन देशों में लॉकडाउन की जरूरत बताई गई है। इस रिसर्च के अनुसार भारत में हालात और खबर हो सकते हैं। ऐसे में भारत सरकार को लॉकडाउन फिर से लगाना पड़ सकता है।

Back to top button