ब्रेकिंग न्यूज़

खुशखबरी: सितंबर में आ जाएगी कोरोना वायरस की वैक्सीन, तेजी से किया जा रहा है दवाई का उत्पादन

ब्रिटिश स्वीडिश फार्मास्युटिकल कंपनी आस्ट्राजेनेका AstraZeneca ने कोरोना वायरस की दवाई का उत्पादन शुरू कर दिया है। ताकि कोरोना वायरस की दवाई का ट्रायल खत्म होते ही बाजार में तुरंत ये वैक्सीन आ सके। एस्ट्राजेनेका कंपनी को पूरी उम्मीद है कि उनके द्वारा बनाई गई वैक्सीन कारगर साबित होगी और इसका ट्रायल सफल रहेगा। जिसकी वजह से इस कंपनी ने दवाई का उत्पादन करना शुरू कर दिया है।

ब्रिटिश स्वीडिश फार्मास्युटिकल कंपनी आस्ट्राजेनेका के अनुसार वैक्सीन के परिणाम इतने उत्साहजनक हैं कि उन्होंने इसका उत्पादन भी शुरू कर दिया है और कंपनी जल्द ही 2 अरब डोज़ तैयार करेगी। कंपनी के सीईओ पास्कल सोरियोट ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि हमें उम्मीद है कि वैक्सीन का अंतिम परिणाम भी बेहतर आएगा। इसलिए हमने इनका उत्पादन शुरू कर दिया है ताकि अंतिम परीक्षण के बाद जल्द से जल्द लोगों तक दवाई पहुंच सकें।

पुणे में भी होगा उत्पादन

ये कंपनी पुणे स्थित सेरम इंस्टिट्यूट के साथ भी एक करार करने जा रही है। जिसके तहत पुणे में भी इस दवा का उत्पादन किया जाएगा। पास्कल सोरियोट के अनुसार वैक्सीन की आपूर्ति के लिए वो जल्द ही पुणे स्थित सेरम इंस्टिट्यूट के साथ करार करने जा रहे हैं। जिसके बाद पुणे में भी एक अरब लोगों के लिए वैक्सीन बनाई जाएगी और यहां से इन दवाओं को दुनिया के गरीब देशों में भेजा जाएगा। सेरम इंस्टिट्यूट के अलावा आस्ट्राजेनेका कंपनी ने बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन की दो संस्थाओं के साथ भी 75 करोड़ डॉलर का करार किया है।

अगस्त तक पूरा हो जाएगा परीक्षण

कंपनी के सीईओ पास्कल सोरियोट का दावा है कि उनकी और से बनाई गई दवाई बेहद ही कारगर है और अगस्त तक वैक्सीन के सारे परीक्षण हो जाएंगे। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ बनाई जा रही इस वैक्सीन का ट्रायल अप्रैल महीने में 100 लोगों पर किया था जो कामयाब रहा था और अब 10,000 लोगों पर दूसरे और तीसरे चरण के तहत परीक्षण शुरू किया गया है। ब्राजील समेत कई देशों में ये परीक्षण किया जा रहा है। अगस्त तक ये परीक्षण खत्म हो जाएगा जिसके साथ ही सितंबर महीने में ये दवाई बाजार में आ जाएगी।

अमेरिका और यूके को सप्लाई करेंगे 40 करोड़ डोज़

वैक्सीन का सफल परीक्षण होने के बाद  AstraZeneca कंपनी अमेरिका को 30 करोड़ और यूनाइटेड किंग्डम को 10 करोड़ वैक्सीन डोज़ उपलब्ध करवाएगी। वैक्सीन के सफल परीक्षण होने के बाद सितंबर तक इसकी पहली डिलीवरी कर दी जाएगी। गौरतलब है कि कई सारे देश कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में लगे हुए हैं। लेकिन अभी तक किसी को भी सफलता नहीं मिल सकेगी है। लेकिन AstraZeneca कंपनी का दावा है कि उनकी दावा एकदम कारगर साबित होगी।

60 लाख से अधिक लोग हैं ग्रस्त

कोरोना वायरस के कारण दुनिया में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 60 लाख से अधिक लोग इसकी चपेट में है। भारत में भी कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है और भारत में इस वायरस से संक्रमित लोगों का आंकड़ा दो लाख को पार कर चुका है।  जबकि भारत में इस वायरस से 7 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। ऐसे में हर किसी को बस कोरोना वायरस की वैक्सीन का ही इंतजार है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close