अध्यात्म

अगर आपका पर्स भी रहता है हमेशा खाली तो अपनाएं ये आसान उपाय, हमेशा पैसों से भरा रहेगा आपका पर्स

आज के समय में पैसा इंसान की मूलभूत जरूरतों में से एक बन गया है। बिना पैसे के कोई भी काम करना संभव नहीं है। कुछ लोगों के घर की आमदनी बहुत अच्छी होती है, लेकिन उनके पास पैसा टिकता ही नहीं है। लाख कोशिश के बाद भी उनके पैसे बचते ही नहीं हैं। कुछ लोगों के पास बहुत पैसा होता है, लेकिन उनकी तरक्की ही नहीं होती है, जब भी पैसे पर्स में रखते हैं तो उसे उड़ते देर नहीं लगती है। अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है।

पहली रोटी खिलाएं गाय को:

आज हम आपको साधारण वास्तु टिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे अपनाकर आप इस परेशानी से हमेशा के लिए बच सकते हैं। जब भी आप गेहूं पिसवाएं इस बात का ख्याल रखें कि उस दिन शनिवार हो। गेहूं पिसवाकर लायें तो उसमें थोड़े काले चने मिला दें। उस आटे से बनने वाली पहली रोटी गाय को खिलाएं और अंतिम रोटी पर सरसों का तेल लगाकर आस-पास के कुत्तों को खिला दें। इसके अलावा आप गेहूं पिसवाने से पहले उसमें 11 तुलसी और 2 केसर की पत्तियां भी मिला सकते हैं। ऐसा करने के बाद आपके पास हमेशा धन टिकेगा और आपको जीवन में कभी भी पैसे की कमी नहीं होगी।


 

 
इसके अलावा ये करें:

*- अपनी कमाई के अनुरूप आप बचत नहीं कर पाते हैं तो शनिवार के दिन काले कुत्ते को सरसों का तेल लगाकर रोटियां खिलाएं।

*- वास्तुशास्त्र यह कहता है कि जब भी आपके पास पैसे की बचत ना हो उस समय आप मां लक्ष्मी की फोटो अपने पर्स में जरूर रखें

*- अगर आप चाहते हैं कि आपके घर पर हमेशा देवी-देवताओं की कृपा बनी रहे तो लाल कपड़े में सोने-चांदी के सिक्के डालकर बांध लें। उस पोटली को आप मिट्टी से बने हुए किसी बर्तन में रख दें और उसे गेहूं या चावल से भर दें।

*- भूलकर भी अपने पास फटा हुआ पर्स नहीं रखना चाहिए। इससे लक्ष्मी बाहर निकल जाती हैं।

*- पर्स में दवाइयां और खाने पीने की कोई भी वस्तु नहीं रखनी चाहिए। वास्तु के अनुसार ऐसा करने से नकारत्मक उर्जा आपके आस-पास मंडराती रहती है।

*- जब भी सुबह घर से बाहर निकलें, अपने साथ एक रोटी लेकर निकले और रास्ते में दिखने वाले कौवे के सामने रोटी डाल दें। हर रोज यही काम करें। कुछ ही दिनों में आपकी धन सम्बन्धी सभी समस्याएं दूर हो जायेंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close