विशेष

दिल्ली के CM केजरीवाल का बड़ा बयान, कहा- ‘अगर आपको कोरोना हो जाए तो आप…’

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मरीज़ों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है, ऐसे में मुख्यमंत्री केजरीवाल की चिंताएं भी बढ़ रही हैं। जी हां, जैसे जैसे कोरोना वायरस के आंकड़ों में उछाल आ रहा है, वैसे वैसे केजरीवाल अपने हाथ खड़े करते हुए नजर आ रहे हैं। अरे भई, ये बात हम नहीं, बल्कि केजरीवाल ने खुद ट्वीट करके कही है। दरअसल, केजरीवाल ने दिल्लीवासियों के लिए एक ट्वीट किया है, जिसे पढ़ने के बाद शायद आपको अटपटा लग सकता है। आइये जानते हैं, आखिर क्या है पूरा मामला.

शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मेरे दिल्लीवासियों, अगर आपको कोरोना हो जाए तो घबराना मत। आप में से ज्यादातर लोगों का इलाज #HomeIsolation में ही हो सकता है,  लेकिन अगर आपको अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत हो तो उसके लिए भी हमारी पूरी तैयारी है। आपके अच्छी सेहत और खुशहाली के लिए मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं। अब भले ही केजरीवाल इस संदेश से दिल्ली की जनता का दिल जीतना चाहते हो, लेकिन इसके पीछे की कहानी तो कुछ और ही है।

दिल्ली में बढ़ रहे हैं कोरोना के केसेस

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, दिल्ली में लगातार कोरोना के मामलों में उछाल देखने को मिल रहा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, गुरुवार के बाद आज लगातार दूसरे दिन दिल्ली में कोरोना के 1000 से ज्यादा नए केस दर्ज किये गए हैं। इसके बाद अब दिल्ली में कोरोना मरीज़ों की संख्या 17,386 हो गई है, तो वहीं मौत का आंकड़ा 400 के करीब पहुंच चुका है। खैर, ये तो रही दिल्ली में कोरोना के आंकड़ों की बात, लेकिन केजरीवाल के ट्वीट पर कई तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं, जिस पर नजर डालना बेहद ज़रूरी है।

केजरीवाल ने क्यों दिया दिल्ली को ये संदेश?

केजरीवाल का संदेश पढ़कर आपके मन में एक ही सवाल आ रहा होगा कि आखिर उन्होंने ऐसा संदेश दिया ही क्यों, जबकि कोरोना मरीजों को तो अस्पताल में 14 दिन रखा जाता है, ऐसे में उनका ये बयान हजम नहीं हो रहा है। दरअसल, दिल्ली में कोरोना मरीजों का आंकड़ा इतना ज्यादा बढ़ गया है कि अब अस्पतालों में ज्यादा मरीज़ों को शिफ्ट करने का स्पेस ही नहीं बचा है, ऐसे में अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए सरकार की तरफ से इस तरह के संदेश दिए जा रहे हैं। इतना ही नहीं, सवाल तो यह भी उठा रहा है कि जिस स्वास्थ्य व्यवस्था के सहारे केजरीवाल दोबारा सत्ता में आए, वही स्वास्थ्य व्यवस्था इतनी जल्दी फीकी कैसे पड़ गई?

देश में 1 लाख 60 हजार के पार कोरोना मरीज़ों की संख्या

वहीं अगर पूरे देश में कोरोना मरीजों के बात करें तो अब आंकड़ा 1 लाख 60 हजार के पार जा पहुंचा है, लेकिन राहत की बात है कि 70 हजार ज्यादा मरीज़ों को हमारे डॉक्टर्स ठीक कर चुके हैं। याद दिला दें कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से मार्च से ही लॉकडाउन घोषित किया गया है, जो फिलहाल 31 मई तक है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close