ब्रेकिंग न्यूज़

दिल्ली सरकार छुपा रही है कोरोना से हुई मौत का आंकड़ा, 920 की जगह 303 मौत होने का कर रही है दावा

दिल्ली में कोरोना वायरस से अभी तक 900 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी हैं। लेकिन दिल्ली सरकार की और से मौत का ये आंकड़ा छुपाया जा रहा है और दिल्ली सरकार कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या हैं महज 303 बात रही है। ऐसे में ये सवाल उठ रहा है कि आखिर क्यों दिल्ली सरकार कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का आंकड़ा छुपाने में लगी हुई है।

बीजेपी ने लगाया आरोप

बीजेपी पार्टी ने दिल्ली सरकार पर कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की संख्या छुपाने का आरोप लगाया गया है। दिल्ली बीजेपी के महामंत्री राजेश भाटिया ने कहा कि अगर निगम के आंकड़े इस बात का प्रमाण देते हैं कि अरविंद केजरीवाल सरकार मौत के आंकड़े छिपा रही है। तो सरकार को सच्चाई जनता के सामने रखनी चाहिए।

वहीं इस आरोप पर दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने अपनी सफाई पेश की है और कहा है कि दिल्ली सरकार की और से कोई भी आंकड़ा नहीं छुपाया गया है। अस्पतालों से जैसे-जैसे मौत के आंकड़ों की जानकारी मिलती जा रही है, उन्हें दर्ज किया जा रहा है। राजधानी की व्यवस्था बिल्कुल पारदर्शी है। यहां होने वाले किसी भी जन्म या मौत के आंकड़े को छुपाया नहीं जा सकता।

शवदाह का आंकड़ा है अधिक

दरअसल दिल्ली में हो रहे शवदाह का आंकड़ा काफी अधिक है। दिल्ली के निगमबोध घाट में अभी तक 414 लोगों का शवदाह किया जा चुका है। जिसमें से 337 मामले कोरोना पॉजिटिव के थे। जबकि 77 लोगों को कोरोना संदिग्ध माना गया था। वहीं दक्षिणी दिल्ली नगर निगम में 481 लोगों का शवदाह हो चुका है।

पूर्वी दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत आने वाले दो कब्रिस्तान में भी 25 शवों को दफनाया जा चुका है। जबकि बुलंद मस्जिद शास्त्री पार्क कब्रिस्तान में 26 मई तक कुल 22 शवों को दफनाया गया है। इनमें 11 कोरोना पॉजिटिव और 11 कोरोना संदिग्ध मामले शामिल थे। जबकि मुल्ला कॉलोनी में अब तक तीन कोरोना पॉजिटिव शवों को दफनाया जा चुका है। यानी साफ है कि रोजाना कई संख्या में मृतकों के शव शमशान घाट और कब्रिस्तान में आ रहे हैं। जिससे की ये साफ है कि दिल्ली सरकार की और से पेश किया जा रहा आंकड़ा एकदम गलत है।

दिल्ली सरकार मृतक लोगों की संख्या छुपाने में लगी हुई है। जहां एक तरफ दिल्ली सरकार 303 लोगों की मौत का दावा कर रही है, वहीं शवदाह के आंकड़े ये बता रहे हैं कि इस वायरस से 900 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

इससे पहले भी उठे हैं सवाल

ये पहला मौका नहीं है जब दिल्ली सरकार पर मृतकों का आंकड़ा छुपाने का आरोप लगा है। इससे पहले भी दिल्ली सरकार की और से मृतकों के गलत आंकड़े पेश किए जा चुके हैं। दिल्ली सरकार की और से जो आंकड़े पेश किए गए थे वो अस्पतालों द्वारा दिए गए आंकड़ों से काफी कम थे।

14 हजार लोग हैं संक्रमित

दिल्ली में कोरोना वायरस से 14 हजार से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं। जिसमें से 6 हजार से अधिक लोग सही हो चुके हैं। वहीं दिल्ली में कोरोना वायरस की रफ्तार थमी नहीं है और ये वायरस तेजी से फैल रहा है। रोज काफी संख्या में कोरोना के केस आ रहे हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close