ब्रेकिंग न्यूज़

विज्ञापन के न’शे में चूर ‘केजरीवाल सरकार’ ने कर दी हद पार, सिक्किम को बताया अलग देश

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने ‘सिविल डिफेंस कॉर्प्स’ के लिए वालंटियर्स की भर्ती के लिए अखबारों में आवेदन प्रकाशित करवाया था। इस आवेदन के मामले में अब विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल, इस विज्ञापन में सिक्किम को नेपाल और भूटान के साथ एक अलग देश के रूप में दिखाया गया है। इस आवेदन के मामले में सिक्किम के मुख्य सचिव एससी गुप्ता ने आपत्ति जताई है और दिल्ली सरकार को नोटिस दिया है।

सिक्किम के मुख्य सचिव एससी गुप्ता ने इस विज्ञापन पर कड़ी आपत्ति जताई है और कहा है कि ऐसे विज्ञापन काफी दुखदाई है। सचिव के अलावा सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह तमांग ने भी दिल्ली सरकार के इस विज्ञापन पर कड़ी आपत्ति जताई है। सीएम ने ट्विट कर कहा है कि विज्ञापन के इस गलती को जल्दी से जल्दी सुधार करने को कहा है।


सचिव एससी गुप्ता ने कहा है कि देश के अंदर ऐसा विज्ञापन एक बेहद ही नुकसानदायक कदम है। एससी गुप्ता ने कहा कि सिक्किम के लोग भारत जैसे महान राष्ट्र का नागरिक होने को लेकर गर्व महसूस करते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि सिक्किम 16 मई 1975 को भारतीय गणराज्य का 22वां राज्य बना था। सिक्किम के मुख्य सचिव एससी गुप्ता ने इस पत्र के साथ दिल्ली सरकार द्वारा दिए गए एडवर्टाइजमेंट की कॉपी संलग्न के साथ ही दिल्ली के मुख्य सचिव को प्रेषित किया।

सिक्किम के मुख्य सचिव ने जताई कड़ी आपत्ति


सिक्किम के मुख्य सचिव एससी गुप्ता ने दिल्ली सरकार से अपील की है कि विज्ञापन जल्द से जल्द वापस लिया जाना चाहिए। साथ ही आईएएस अधिकारी गुप्ता ने दिल्ली सरकार से कहा है कि वो एक ऐसी विज्ञप्ति जारी करे जिससे कि सिक्किम के लोगों की भावना ठेस न पहुँचे। गौरतलब हो कि सोशल मीडिया पर विज्ञापन के आने के बाद दिल्ली सरकार के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और लोगों ने इस विज्ञापन पर कड़ी आपत्ति जताई है। बता दें कि केजरीवाल सरकार अक्सर विज्ञापनों के नशे में चूर रहती है, जिसकी वजह से वह इतने गंभीर समय में भी लगातार विज्ञापन देती हुई नजर आ रही है।

कार्रवाई की गई


लोगों के विरोध के बाद मामला जब तूल पकड़ने लगा, तो दिल्ली के सीएम ने इस पूरे मसले पर सफाई दी है। केजरीवाल ने बयान देते हुए कहा है कि सिक्किम भारत का अभिन्न अंग है और इस तरह की गलतियों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। केजरीवाल ने ये जानकारी दी है कि विज्ञापन वापस ले लिया गया है और इस मामले से जुड़े सभी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

केजरीवाल सरकार पर निशाना

गौरतलब हो कि इस पूरे मामले पर अब दिल्ली की केजरीवाल सरकार निशाने पर आ गई है। दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अनिल चौधरी ने केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा है कि दिल्ली के सीएम प्रचार प्रसार में इतना व्यस्त हैं कि वो ये भी भूल गए कि सिक्किम भारत का हिस्सा है। इनके अलावा अन्य कई दिल्ली के नेताओं ने केजरीवाल सरकार की आलोचना की है।

Back to top button