बॉलीवुड

‘महाभारत’ सीरियल में निभाया था देवराज इन्द्र का किरदार, अब वृद्धाश्रम में जी रहा ऐसी जिंदगी

लॉकडाउन में दूरदर्शन ने बी.आर. चोपड़ा के ‘महाभारत’ सीरियल का पुनः प्रसारण शुरू किया था. ऐसे में इस एतिहासिक सीरियल में काम करने वाले सभी कलाकार एक बार फिर चर्चा का विषय बन गए हैं. आज हम आपको इसी सीरियल के कलाकार सतीश कॉल (Satish Kaul) के बारे में बताने जा रहे हैं. याद दिला दे कि ये वही सतीश कौल हैं जिन्हें पंजाबी फिल्मों का अमिताभ बच्चन कहा जाता था. एक वक्त था जब सतीश हिंदी और पंजाबी फिल्मों के जाने माने अभिनेता हुआ करते थे. उनके पास करोड़ों रुपए की दौलत थी. बड़े बड़े प्रोड्यूसर्स उनके साथ काम करने के लिए मरते थे. हालाँकि वर्तमान में सतीश जी की हालत बहुत खराब हैं. वे दयनीय स्थिति में रहने को मजबूर हैं.

फ़िल्मी करियर

सतीश कौल ने पंजाबी फिल्मों से एक्टिंग की दुनिया में कदम रखा था. उनके करियर की शुरुआत 1979 में हुई थी. करियर की शुरुआत में उन्होंने कई हिट पंजाबी फ़िल्में दी थी. इसके बाद वे हिंदी सिनेमा का हिस्सा भी रहे. ‘कर्मा’, ‘आंटी नंबर वन’, ‘प्यार तो होना ही था’, ‘प्यार का मंदिर’, ‘खूनी महल’ जैसी फिल्मों में उन्होंने अपने अभिनय का रिंग बिखरा. इस दौरान सतीश जी ने 300 से अधिक पंजाबी और हिंदी फिल्मों में काम किया.

‘महाभारत’ में बने थे ‘देवराज इंद्र’

सिनेमा के बाद सतीश कौल ने टीवी में एंट्री की थी. यहाँ वे फेमस सीरियल ‘महाभारत’ में देवराज इंद्रा बने दिखाई दिए थे. ये वही इंद्र हैं हैं जिन्होंने ब्राह्मण का भेष धारण कर दानवीर कर्ण से उसका कवच व कुंडल मांगे थे. उनका यह किरदार लोगो को बड़ा पसंद आया था. एक इंटरव्यू में उन्होंने फिल्मों से टीवी में आने का कारण भी बाताया था. दरअसल 80 के दशक में आतंकवाद का साया फैला हुआ था जिसके चलते सतीश जी का फ़िल्मी करियर डूबता चला जा रहा था.

विक्रम और बेताल में निभाए कई रोल

महाभारत के अलावा सतीश कॉल ने और भी कई फेमस टीवी शो में दमदार रोल प्ले किये. इसमें रामानंद सागर  ‘विक्रम और बेताल’ सबसे अधिक फेमस हुआ था. इस सीरियल में सतीश कौल ने युवराज आनंदसेन, प्रिंस अजय, मधुसूदन, वैद्य, सत्वशील, राजकुमार वज्रमुक्ति, सेनापति और सूर्यमल सहित कई रोल स्वयं कर डाले थे.

करोड़पति से बने रोडपति

सतीश कौल ने अपनी सारी सेविंग्स लुधियाना में एक एक्टिंग स्कूल खोलकर खर्च कर दी थी. दुर्भाग्यवश उनका ये एक्टिंग स्कूल बुरी तरह फ्लॉप हो गया और उनके सभी पैसे डूब गए. आलम ये था कि कभी करोड़ों रुपए गिनने वाले इस एक्टर के पास खुद के खर्चे तक के पैसे नही बचे थे. ऊपर से उनकी इस हालत में बीवी और बेटा उन्हें छोड़ अमेरिका शिफ्ट हो गए थे.

वृद्धाश्रम में काट रहे जिंदगी

सूत्रों की माने तो सतीश कौल इन दिनों पंजाब राज्य के लुधियाना में बने विवेकानंद वृद्धाश्रम जीविका बसर कर रहे हैं. उनके पास खाने पिने और दवाइयों तक के पैसे नहीं हैं. एक दफा वे लुधियाना के एक हॉस्पिटल में भर्ती थे, तब उनके पास अपना बिल भर पाने तक के पैसे नहीं थे. ये बड़े ही दुःख की बात हैं कि सतीश कौल जैसा टेलेंटेड सितारा आज इस तरह की दयनीय जिंदगी जीने को मजबूर हैं.

Show More

Related Articles

Back to top button
Close