जब लोकसभा में योगी आदित्यनाथ ने दहाड़ा था, तो कांग्रेस की बोलती बंद हो गई थी, देखें वीडियो

उत्तर प्रदेश में बीजेपी अप्रत्याशित बहुमत हासिल करते हुए आखिरकार सूबे की सत्ता में आ ही गई. हाल ही में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में बीजेपी की भारी जीत के बाद पार्टी के अक्रामक नेता योगी आदित्यनाथ को यूपी का मुख्यमंत्री बनाया गया. योगी आदित्यनाथ अपने विरोधियों पर बयानों से हमले करने के लिए जाने जाते हैं. उनके ऐसे कई वीडियो मिल जाएंगे, जिनमें वो विरोधियों पर जमकर गरज रहे हैं. वो किसी मुद्दे पर अपने विरोधियों पर शेर की तरह दहाड़ते हैं. यही वजह है कि मुख्यमंत्री बनते ही सोशल मीडिया पर उनेक बहुत से वीडियो वायरल हो रहे हैं.

Ram mandir will be constructed

कांग्रेस पर खूब बरसे थे योगी:

दरअसल पांच बार सांसद रहे योगी आदित्यनाथ ने वैसे तो संसद से लेकर सड़क तक ऐसे कई बार अपने भाषणों से विरोधियों को धोया है, मगर इस बार संसद में बोलते हुए योगी का एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है. जिसमें योगी कांग्रेस पर जबानी हमला करते हुए आंकड़ों के साथ बता रहे हैं कि राज्य और केंद्र में कांग्रेस की सरकार के होते हुए किस तरह सांप्रदायिक घटनाएं हुईं.

 

pm modi rally in maharajganj

योगी ने आंकड़ों से की कांग्रेस की बोलती बंद:

वीडियो देखेंगे, तो आपको भी अंदाजा हो जाएगा कि योगी कभी लफ्फाजी नहीं करते, बल्कि जब भी बोलते हैं आंकड़ों के साथ बोलते हैं. कांग्रेस पर मुस्लिम परस्ती का आरोप लगाते हुए वीडियो में योगी कहते हैं कि इस देश में 12 लाख से अधिक साधू-संत रहते हैं और कांग्रेस इमामों के लिए वेतन की घोषणा करती है. एक पक्षीय होना क्या सेक्युलर एजेंडा है?

देश के विभिन्न मंदिरों पर हुए हमले में कांग्रेस सरकार की निष्क्रियता पर भी उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया. साथ ही कश्मीरी पंडितों के मुद्दे पर भी कांग्रेस को खूब खरी-खोटी सुनाई. वीडियो में योगी कहते हैं, कांग्रेस योजाओं में 20% आरक्षण मुस्लिम आबादी को देती है. कब्रिस्तान की दिवार के लिए जगह-जगह विवाद खड़ा कर 300 करोड़ रुपया आवंटित किया जाता है.

देखिये वीडियो-

https://youtu.be/AT9xVmAcao0

दोस्तों, इस वीडियो में कांग्रेस पर सांप्रदायिक हिंसा का आरोप लगाते हुए योगी जी खूब बरसते हैं. उन्होंने कांग्रेस पर प्रहार करते  हुए कहा कि सांप्रदायिक कांग्रेस देश की सुरक्षा के लिए खतरा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.