विशेष

नौकरानी के प्रेम जाल में फंसकर, बेटे ने की सभी हदें पार, मौत के घाट उतार दिया पूरा परिवार

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक ही परिवार के चार सदस्यों की हत्या कर दी गई है और ये हत्या इस घर के बेटे ने की है। पुलिस के अनुसार इस हत्या में कुल चार लोग शामिल थे। जिनमें से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि दो आरोपी फरार हैं। पुलिस के अनुसार प्रेम जाल में फंसकर इस घर के बेटे ने अपने माता-पिता, बहन और पत्नी का मर्डर करवाया है।

नौकरानी से करता था प्रेम

ये घटना प्रयागराज के धूमनगंज थाना क्षेत्र के प्रीतम नगर कॉलोनी की है। पुलिस के अनुसार कारोबारी तुलसीदास केसरवानी के बेटे आतिश और उसके साथी ने साथ मिलकर परिवार के चार लोगों की हत्या की साजिश रची। पुलिस के अनुसार गुरुवार दोपहर साढ़े तीन बजे आतिश ने हत्यारों से अपने पिता केसरवानी, मां किरण, बहन निहारिका और पत्नी प्रियंका की हत्या करवाई।

इन लोगों की हत्या की जानकारी पड़ोसियों ने तुरंत पुलिस को दी जिसके बाद पुलिस ने मौके पर आकर शवों को अपने कब्जे में लिया। पुलिस के अनुसार पुलिस ने जब आतिश से हत्या के बारे में सवाल किए तो उसने कहा कि वो बैंक गया था और जब दोपहर को वो घर लौटा तो उसने सभी को मरा हुआ पाया।

नौकरानी से थे संबंध

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तुरंत कार्यवाही की और इस दौरान पुलिस को आतिश और नौकरानी के संबंधों के बारे में पता चला। एडीजी प्रेम प्रकाश के अनुसार पुलिस को जांच में पता चला कि नौकरानी से रिश्तों को लेकर घर में कुछ दिन पहले विवाद हुआ था और इसी विवाद के बाद आतिश ने अपने घर वालों को मार दिया। आतिश के दोस्त अनुज श्रीवास्तव ने इस अपराध में आतिश की मदद की है और अनुज के जरिए ही आतिश को भाड़े में हत्यारे मिले थे।

8 लाख की दी सुपारी

पुलिस के मुताबिक आतिश ने अपने परिवार के सदस्यों की मौत की कीमत 8 लाख रुपए लगाई थी और भाड़े के हत्यारों को अपने परिवार के सदस्यों की हत्या के लिए आठ लाख रुपए दिए थे। पुलिस ने अपनी जांच में पाया है कि इस हत्याकांड में कुल चार लोग शामिल थे जिनमें से पुलिस ने आतिश और अनुज को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि हत्याकांड को अंजाम देने वाले दो आरोपियों की तलाश की जा रही है। हत्यारों को पकड़ने के लिए पुलिस की टीम छापेमारी कर रही है और अभी तक पांच जगहों पर छापेमारी मारे जा चुके हैं।

एडवांस में दिए थे पैसे

अपने परिवार के सदस्यों की हत्या के लिए आतिश केसरवानी ने हत्यारों को एडवांस में पैसे दिया थे, जो कि 75 हजार थे। पैसे मिलने के बाद इन हत्यारों ने परिवार के लोगों की हत्या करने का प्लान तैयार किया और हत्या के समय आतिश केसरवानी बैंक का बहाना मार कर घर से निकल गया। वहीं इस दौरान हत्यारों ने घर में घुसकर परिवार के सदस्यों की हत्या कर दी।

आतिश ने घर आकर अपने परिवार के सदस्यों को मरा हुआ पाया और पड़ोसियों को सूचना दी। उसके बार पुलिस ने अपनी जांच शुरू की और पाया कि आतिश का अपने घर की नौकरानी के साथ चक्कर चल रहा था। जिसका उसके परिवार वालों ने विरोध किया था। वहीं इस विरोध के कारण आतिश ने अपने घर वालों की हत्या करवा दी।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close