समाचार

पाकिस्तान के PM इमरान खान को डरा रही हैं ये 5 बातें, उड़ गई हैं रातों की नींद

इमरान खान जब से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने हैं, तब से पाकिस्तान बर्बादी की तरफ बढ़ता ही जा रहा है। वैसे तो इमरान खान ने चुनाव में बड़े बड़े वादे किए थे, लेकिन वे अपने चुनावी वादों को पूरा करने में नाकाम रहे हैं। और अब इमरान खान सरकार कोरोना के संकट से घिर चुकी है। इस समय इमरान खान काफी डरे हुए नजर आ रहे हैं। उन्हें 1 या 2 नहीं, बल्कि 5 ऐसे खौफ हैं, जो इस समय इमरान खान को सता रहे हैं। माना जा रहा है कि, इमरान खान की कुर्सी खतरे में है। पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से खत्म हो चुकी है और अब तो पाकिस्तान के एटम बम को भी खतरे में हैं।

कोरोना वैश्विक महामारी की चपेट में पूरी दुनिया आ चुकी है। और पाकिस्तान जैसे मुल्क के लिए तो कोरोना काफी घातक साबित हो रही है। कोरोना पाकिस्तान से सम्हल नहीं रहा है और रही सही मुसीबत पाकिस्तान की नापाक हरकतों के बाद हिंदुस्तान के सख्त रूख ने बढ़ा दी है। अब इमरान खान पूरी तरीके से खौफ में दिख रहे हैं।

इमरान खाने के वो पांच खौफ

  • कोरोना से तबाही
  • चौपट अर्थव्यवस्था
  • भारत का सख्त रूख
  • छिनने वाला है एटम बम?
  • तख्तापलट करेंगे बाजवा?

पाकिस्तान में तख्तापलट के संकेत

पाकिस्तान में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इमरान खान ने पाकिस्तान में लॉकडाउन खोलने का फैसला कर दिया है, जिससे कोरोना संक्रमण और बढ़ जाएगा। पाकिस्तान की पहले से ही खराब अर्थव्यवस्था अब पूरी तरीके से बर्बाद हो चुकी है। भारत में लगातार आतंकी हमलों के बाद इमरान खान को भारत की तरफ से बड़े हमलों का डर है। पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के पूर्व क्रिकेटर साथी जावेद मियांदाद ने डर जाहिर करते हुए कहा है कि पाकिस्तान से एटम बम छिन जाएगा। इसके बाद उन्होंने कहा कि इमरान खान कोरोना संकट को सम्हालने में फेल साबित हुए हैं। इसकी वजह से पाकिस्तानी फौज उन्हें पीएम की कुर्सी से बाहर भी कर सकती है।

कोरोना पाकिस्तान के सर पर मौत की तरह मंडरा रहा है। इसके अलावा इमरान को इस बात का डर है कि कहीं आतंकी हमलों से पस्त भारत पाकिस्तान पर कोई बड़ा हमला न कर दे। इमरान खान की चिंता इस बात से और बढ़ गई होगी, जब पीएम मोदी ने पोखरण में हुए परमाणु परीक्षण को याद करते हुए कहा कि 1998 में हुए पोखरण परीक्षण ने यह भी दिखाया कि एक मजबूत राजनीतिक नेतृत्व किस तरह से फर्क ला सकती है।

पाकिस्तान सरकार को नरेंद्र मोदी के इसी सख्त नेतृत्व का डर है, जो पाकिस्तान को घर में घुसकर मारने का माद्दा रखती है। इसी डर को देखते हुए आजकल पाकिस्तान ने अपने हवाई क्षेत्र में गश्त बढ़ा दी है। पाकिस्तान को भारत के डर के अलावा इस बात का भी डर सता रही है कि कहीं उससे एटम बम न छिन जाए। और ये डर पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद के बयान में साफ साफ नजर आता है।

एटम बम बचाओ- जावेद मियांदाद

जावेद मियांदाद का कहना है कि पाकिस्तान पर कर्ज बढ़ता ही जा रहा है, ऐसे में उससे एटम बम जैसे हथियार छीन सकते हैं। मियांदाद ने कहा कि आईएमएफ जैसे संस्थानों का कर्ज नहीं चुकाया गया तो वो हमसे एटम बम ले जाएगा। मियांदाद ने इन कर्जों को चुकाने के लिए एक बैंक एकाउंट भी खोला है और लोगों से अपील की है कि उस एकाउंट में पैसा जमा करें।

मियांदाद ने एटम बम बचाने के लिए लोगों से मांगा भीख


पूर्व क्रिकेटर जावेद मियांदाद ने शनिवार रात को एक ट्विट किया था, जिसमें उन्होंने बताया है कि ‘नेशनल बैंक ऑफ पाकिस्तान में एक एकाउंट खोला है।’ उन्होंने लिखा, ‘मैं आप लोगों से भीख मांगता हूँ कि इसमें पैसा जमा करें, ताकि हमारा एटम बम बच जाए।’ मियांदाद लिखते हैं कि मुल्क के लोगों ने ही इस मुल्क को बहुत लूटा है, लेकिन अब वो मुझे भीख देकर अपने किए गए पापों का प्रायश्चित कर लें। विदेशों में भी जो पाकिस्तान के लोग हैं, वे भी इस बैंक एकाउंट में अपना सहयोग दें।

जावेद मियांदाद ने कहा है कि ये मेरा नया इंटरनेशनल एकाउंट है और इसका प्रयोग सिर्फ मैं करूंगा। उन्होंने विश्वास के साथ कहा कि हम आईएमएफ का कर्ज चुकाएंगे। कर्ज चुकाने के लिए इस एकाउंट में हर महीने कुछ न कुछ सहयोग दें। जावेद ने बताया कि हमारे मुल्क के ऊपर पहले से ही बहुत कर्ज है और अब अगर हम आईएमएफ जैसे संस्था से कर्ज लेने जाएंगे तो सबसे पहले वो हमारे एटम बम मांगेंगे। अगर इस स्थिति से बचना है तो हमें उनका पैसा लौटाना होगा और इसलिए मैं आप सभी से भीख मांग रहा हूँ।

मियांदाद के इस बयान से साफ है कि न सिर्फ इमरान खान बल्कि पूरा पाकिस्तान खौफ में है और इससे भी दिलचस्प बात ये है कि इस खौफ से बचने के लिए इमरान खान के पास कोई उपाय नहीं है।

Back to top button